सीरिया में तेज़ हुई लड़ाई, भयंकर गोलाबारी

सीरिया इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया की राजधानी दमिश्क के बाहरी इलाकों में राष्ट्रपति बशर अल असद के सैनिकों का विद्रोहियों के साथ कड़ा संघर्ष चल रहा है.

वहां के बाशिंदों का कहना है कि विद्रोहियों के अचानक हमले के बाद शहर पर गोला बारूद और रॉकेट से हमले हुए हैं.

पर्यवेक्षकों का कहना है कि सरकारी प्रतिरक्षा पंक्ति को तोड़ने की कोशिश करने से पहले चरमपंथियों ने जोबार ज़िले में दो आत्मघाती कार बम में धमाका कर दिया.

सरकारी सेना ने इन हमलों का जवाब हवाई हमले से दिया है.

सीरिया में हवाई हमले में 42 की मौत

सीरिया की सरकारी मीडिया का कहना है कि जोबार में हमले के लिए गुप्त सुरंगों का भी इस्तेमाल किया गया.

दमिश्क में विपक्षियों के कब्ज़े वाले कुछ ही इलाके हैं और जोबार सिटी सेंटर के सबसे क़रीब है.

पिछले दो साल से ज़्यादा अरसे से युद्ध प्रभावित क्षेत्र में नियंत्रण को लेकर एक तरफ़ राष्ट्रपति असद की सेना और दूसरी तरफ़ विद्रोहियों और जिहादी गुटों का संघर्ष जारी है.

इमेज कॉपीरइट AFP

दमिश्क में एएफ़पी के संवाददाताओं का कहना है कि सेना ने दमिश्क के सामरिक रूप से महत्वपूर्ण अब्बासी चौराहे तक पहुंचने के रास्ते बंद कर दिए हैं. इस बीच धमाकों की आवाज़ें शहर में कई जगहों से सुनाई पड़ रही हैं.

सीरिया में शांति समझौता

ब्रिटेन की सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि विद्रोहियों ने बारज़ेह, तिशरीन और क़ाबुन ज़िलों में सरकारी सेना के हमले से अपने लड़ाकों को सुरक्षित करने के लिए हमले की शुरुआत की है.

पिछले बुधवार को दमिश्क की मुख्य अदालत परिसर में हुए आत्मघाती बम धमाके में कम से कम 31 लोग मारे गए थे.

बाद में, एक अन्य आत्मघाती हमले में हमलावर ने पश्चिमी ज़िले रबवेह के एक रेस्त्रां को निशाना बनाया. इस घटना में 20 से ज़्यादा लोग ज़ख़्मी हुए.

ये हमले सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद के ख़िलाफ़ शुरू हुए विद्रोह की छठी बरसी पर हो रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे