सीरिया में विद्रोहियों का नया हमला

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया में विद्रोहियों और जिहादी ताक़तों ने राजधानी दमिश्क पर नए सिरे से हमला बोला है.

पिछले दो वर्षों में इसे सबसे बड़ा हमला बताया जा रहा है.

विद्रोहियों की तरफ से एक अधिकारी ने कहा कि उन्होंने जोबार ज़िले में अपने पांव दोबारा जमा लिए हैं.

रविवार को भी उन्होंने यहां बढ़त हासिल की थी लेकिन कड़े संघर्ष के बाद उन्हें लौटना पड़ा.

सीरिया में तेज़ हुई लड़ाई, भयंकर गोलाबारी

हालांकि सरकारी मीडिया का कहना है कि "घुसपैठ की कोशिश" नाक़ाम हो गई है और सेना इलाक़े को खाली करा रही है.

सोमवार को जंगी जहाज़ों ने आसपास के विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाक़े पर दर्जनों हमले किए.

मानवाधिकारों पर नज़र रखने वाली सीरियाई एजेंसी के मुताबिक अब तक इस जंग में सरकार समर्थित सेना के 38 और विद्रोहियों के खेमे से 34 विद्रोहियों की जान गई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

ताज़ा हमला ऐसे वक्त में हुआ है जब सरकार जिनेवा में अगले दौर की शांति वार्ता शुरू करने जा रही है.

विद्रोहियों का कहना है कि ऐतिहासिक शहर दमिश्क के तीन किलोमीटर से भी कम के दायरे में हमला कर के वो सरकार को ये बताना चाहते हैं कि सीरिया के सबसे सुरक्षित समझे जाने वाले इलाक़ों पर भी वो हमला कर सकते हैं.

इस हमले का मकसद शांति वार्ता में अपनी स्थिति को मज़बूत करना है.

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरियाई सेना ने हमले का जवाब देने के लिए सिटी सेंटर की ओर दर्जनों टैंक रवाना कर दिए गये हैं.

सरकारी सेना हवाई हमलों और टैंकों से गोलाबारी के जरिए विरोधियों को जवाब दे रही है.

इस बीच सीरिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के राजदूत श्टेफान दे मिस्तुरा ने कहा है कि सीरिया के संघर्ष में शामिल सभी पक्षों ने नए दौर की बातचीत में शामिल होने की पुष्टि की है.

गुरुवार को ये बातचीत जिनेवा में होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे