लंदन हमला: 'लोग चीख रहे थे नीचे झुको वापस जाओ'

इमेज कॉपीरइट EPA

लंदन में बुधवार दोपहर "आतंकवादी घटना" के वक्त कई राजनेता, पत्रकार और आम लोग वहां मौजूद थे.

इस घटना में वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर एक कार ने कई लोगों को टक्कर मार कर ज़ख़्मी किया उसके तुरंत बाद कार से बाहर निकला एक शख़्स संसद की तरफ दौड़ पड़ा और उसने संसद के भीतर एक पुलिसकर्मी को चाकू मारा.

मिशेल लंगाम भी संसद गईं थी उसी समय ये घटना हुई और इसके बाद संसद की सेंट्रल लॉबी को बंद कर दिया गया. उनका कहना है कि उस वक्त वहां बहुत से स्कूली बच्चे भी मौजूद थे.

मिशेल ने बीबीसी से कहा, "हम लोग तब कैफे में थे. हमने फर्श पर एक पुलिसवाले को लेटे हुए देखा. हमने वहां हलचल देखी. जो लोग सड़कों पर थे उन्हें कैफे में जाने के लिए कहा गया, बहुत सारे लोग चीख रहे थे."

मिशेल ने ये भी कहा, "हमें जान माल के नुकसान के बारे में कुछ नहीं बताया गया. जो कुछ भी पता चला वो सोशल मीडिया से. अंदर हमें कुछ नहीं बताया गया."

LIVE ब्रितानी संसद के बाहर 'आतंकवादी घटना,' कई हताहत

डेली मेल के पत्रकार क्वेंटिन लेट्स ने कहा, "उस आदमी के हाथ में कुछ था, वो छड़ी की तरह दिख रहा था उस उसे पीली जैकेट पहने कुछ पुलिसवालों ने रोका, एक पुलिसवाला नीचे गिर गया. और हम देख सकते थे कि वो आदमी उस काली चीज को अपने हाथ में इस तरह घुमा रहा था जैसे वो किसी पुलिस को चाकू मार रहा हो, इसके बाद उस पुलिस की मदद के लिए जल्दी ही दूसरे पुलिसवाले आ गए."

इमेज कॉपीरइट Reuters

लेट्स ने ये भी कहा, "और वो हमलावर उस गेट की तरफ दौड़ा जिधर से सांसद हाउस ऑफ कॉमंस में जाते हैं. करीब 15 यार्ड्स तक दौड़ने के बाद शायद दो सादे कपड़ों में मौजूद पुलिसवालों ने उसे चिल्ला कर रोकने की कोशिश की, चेतावनी दी लेकिन उसने अनसुना कर दिया. उसके बाद उन्होंने दो या तीन फायर किए जिसके बाद वो गिर गया."

कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद ग्रांट शैप्स ने बीबीसी से कहा, "पोलर्टकुलिस हाउस में बहुत सारे लोग थे अचानक मत विभाजन की घंटी बजी. वहां बहुत सारे लोग थे क्योंकि हम सब वोट डालने जा रहे थे, अचानक हमने शोर सुना और पुलिस अधिकारी दिखे, उन्होंने बंदूकें निकाल कर गेट की तरफ तान दिया था."

तस्वीरों में: ब्रितानी संसद के बाहर हमला

शैप्स ने बताया, "इसके बाद मुझे जल्दी जल्दी चार बार गोली चलने की आवाज़ सुनाई पड़ी. तुरंत ही हमारी ओर पुलिस वाले आ गए और हमें झुकने को कहा, इसके बाद हम पैलेस की दीवारों के पीछे अंदर चले गए."

पूर्व शिक्षा मंत्री निकी मॉर्गन ने प्रेस एसोसिएशन को बताया, "मैं पोर्टकुलिस हाउस की ओर से ओल्ड पैलेस यार्ड से लगती सड़क पर आ रहा था, तभी अचानक गोलियों की आवाज़ सुनाई दी. मुझे थोड़ा वक्त लगा ये समझने में कि ये गोलियों की आवाज़ है और लोग चीख रहे हैं कि नीचे झुको वापस जाओ"

इमेज कॉपीरइट Reuters

रिचर्ड टाइस लंदन की लोकल रेल सेवा ट्यूब के स्टेशन से बाहर आ रहे थे जब ये घटना शुरू हुई. उन्होंने बीबीसी न्यूज़ को बताया,"मैं वेस्टमिंस्टर अंडरग्राउंड से बाहर आया और ये साफ था कि कुछ नाटकीय घटना हुई है. मैं ब्रिज की तरफ गया और नीचे ऊपर देखने लगा, वहां रास्ते पर कम से कम आठ लोग थे और तभी दक्षिण की ओर से ब्रिज पर एक कार आ कर टकराई."

पॉलिटिक्स होम के संपादक केविन शोफिल्ड उस वक्त संसद में थे. उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, "संसद के बाहर बहुत तेज़ आवाज़ के साथ टक्कर हुई उसके बाद लोग चीखने लगे. मैंने एक पुलिस पर हमला होते हुए देखा, उसके बाद एक शख्स हाथ में चाकू या बंदूक लिए दिखा. इसके बाद गोलियों की आवाज़ आई और कई हथियारबंद पुलिस हर तरफ दौड़ते दिखे."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
लंदन हमले की आंखों देखी

केविन ने ये भी लिखा,"मैं न्यू पैलेस यार्ड में किसी का इलाज़ होते देख रहा हूं. मैं एक एंबुलेंस के पीछे वाले हिस्से में एक शख्स को देख रहा हूं, उसके साथ ही एक और शख्स भी ज़मीन पर है जो शायद इलाज़ का इंतज़ार कर रहा है."

न्यू स्टेट्समैन के राजनीतिक संपादक जॉर्ज एटॉन ने इस घटना को हाउस ऑफ कॉमंस की प्रेस गैलरी से देखा. उन्होंने स्काई न्यूज़ को बताया, "मैंने हमलावर के पीछे भारी भीड़ को दौड़ते देखा, ऐसा लग रहा था कि हमलावर के हाथ में चाकू है. इसके बाद वो संसद की गेट के अंदर आ गया"

इमेज कॉपीरइट AP

राजोस्लॉ सिकोर्स्की हार्वर्ड सेंटर फॉर यूरोपीयन स्टडीज़ में सीनियर फेलो है. उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वेस्टमिन्स्टर ब्रिज पर दो लोगों को लेटे हुए देखा जा सकता है.

उन्होंने लिखा है, "वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर एक कार ने कम से कम पांच लोगों को टक्कर मारा."

लंदन की पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड का कहना है कि वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर कई लोगों के घायल होने की ख़बर आने के बाद हथियारबंद दस्ते को बुलाया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे