हिटलर के पूर्व नाज़ी कैंप के बाहर नग्न प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट Reuters

पूर्व नाज़ी कैंप की जगह बने ऑत्स्विज़ संग्रहालय के बाहर नग्न प्रदर्शन करने वाले 11 लोगों को पोलैंड की पुलिस ने हिरासत में लिया है.

संग्रहालय के बयान में कहा गया है कि कुछ लोगों ने एक भेड़ को मार डाला, अपने कपड़े उतार दिए और खुद को एक चेन से बांध लिया.

आउशवित्स नाज़ी कैंपः न भूलने वाली दास्तां

हिटलर से पहले था स्वास्तिक से प्यार

यह घटना पूर्व नाज़ी कैंप के गेट के ठीक नीचे हुई जिसपर सबसे कुख्यात नारा लिखा है- 'काम आपको मुक्त करता है.'

अधिकारियों का कहना है कि इस प्रदर्शन का मक़सद अभी साफ नहीं हो पाया है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पुलिस द्वारा जारी तस्वीर में हिरासत में लिए गए लोग

प्रदर्शन के दौरान कार पार्किंग में पटाख़े भी छोड़े गए.

हालांकि तत्काल हरक़त में आए सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया और कपड़े पहनाए. यह जगह दक्षिणी शहर ओशवियेनसीम में स्थित है और इसे लोगों के लिए बंद कर दिया गया है.

प्रदर्शनकारियों की उम्र 20 से 27 के बीच है.

स्थानीय पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सात आदमियों और चार महिलों में छह पोलैंड निवासी, चार बेलारूस के और एक जर्मनी का नागरिक है.

स्थानीय मीडिया के अनुसार, उन्होंने घटना को फ़िल्माने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया और गेट पर एक सफेद बैनर लगा दिया जिसपर लाल रंग से 'लव' लिखा था.

बीबीसी वार्सा संवाददाता एडम ईस्टन ने कहा कि कुछ ख़बरों में कहा गया है कि यह यूक्रेन में युद्ध के ख़िलाफ़ प्रदर्शन था.

ऑत्स्विज़ संग्रहालय के बयान में कहा गया है, "ऑत्स्विज़ का प्रतीक किसी भी तरह के आयोजन में इस्तेमाल करना अस्वीकार्य है. यह जर्मन नाज़ी ऑत्स्विज़ डेथ कैंप के पीड़ितों के प्रति अपमानजनक है."

इस कैंप में नाज़ियों द्वारा क़रीब 11 लाख लोग मौत के घाट उतार दिए गए थे जिनमें 10 लाख यहूदी थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे