मैक्सिकोः रिपोर्टर की हत्या, अख़बारों ने बंद की छपाई

इमेज कॉपीरइट Reuters

पत्रकारों के ख़िलाफ़ होने वाली हिंसा के ख़िलाफ़ मैक्सिको के स्थानीय अख़बारों ने प्रकाशन बंद कर दिया है.

स्थानीय अख़बारों का कहना है कि हिंसा और ज़िम्मेदार लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई न होने कारण वो मजबूरन अपनी छपाई बंद कर रहे हैं.

नोर्टे डी सियूडाड जॉरेज़ ने अपने संपादकीय में कहा है कि उसका रविवारीय संस्करण अंतिम होगा.

हालांकि अख़बार ने कहा है कि वो ऑनलाइन संचालन जारी रखेगा.

पिछले महीने इस अख़बार से जुड़ी एक पत्रकार मिरोस्लावा ब्रीच को गोली मार दी गई थी.

मार्च में मारे गए तीन पत्रकारों में से वो एक थीं.

मैक्सिको की सड़कों पर लूट-मार

मैक्सिको मे सबसे असुरक्षित हैं महिलाएं

इमेज कॉपीरइट Reuters

ब्रीच ने संगठित अपराध और राजनीतिज्ञों के बीच संबंधों पर बहुत विस्तृत रिपोर्टिंग की थी.

उन्हें घर के बाहर कार में आठ गोली मारी गई थी.

उनके साथ उनका एक बच्चा था जिसे कोई चोट नहीं आई.

हथियारबंद हमलावर ने एक पर्ची छोड़ी थी जिसपर लिखा था, "ज़्यादा बोलने के लिए."

अख़बार के संपादक ऑस्कर सैंटू ने लिखा है, "गंभीर और संतुलित पत्रकारिता के लिए न तो कोई गारंटी है और न ही सुरक्षा."

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने आगे लिखा है, "ज़िंदगी में हर चीज़ की शुरुआत होती है और हर चीज़ का अंत होता है और इसके लिए क़ीमत चुकानी पड़ती है, लेकिन अगर यह क़ीमत ज़िंदगी है तो मैं ऐसा होने देने के लिए तैयार नहीं हूं."

पत्रकारों की सुरक्षा मामले की कमेटी के अनुसार, साल 1992 से अबतक मैक्सिको में 35 पत्रकारों की उनके काम के लिए हत्या हो चुकी है. इनमें से एक चौथाई को टॉर्चर भी किया गया.

इसी दौरान 50 अन्य पत्रकार कई अन्य घटनाओं में मारे गए जिनमें मंशा साफ नहीं हो पाई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे