पाकिस्तान: सूफ़ी दरगाह में 'घंटों तक चलता रहा कत्लेआम'

पाकिस्तान सरगोधा इमेज कॉपीरइट EPA

पाकिस्तान के पंजाब सूबे के ज़िला सरगोधा में एक सूफ़ी दरगाह में कम से कम 20 लोग मारे गए हैं और कई घायल हो गए हैं.

पुलिस के अनुसार दरगाह की रखवाली करने वाले शख्स ने धारदार हथियार से लोगों की हत्या की है.

यह घटना सरगोधा में दरबार मोहम्मद अली की दरगाह पर हुई. घटना के बाद घायलों को ज़िला मुख्यालय अस्पताल ले जाया गया.

बीबीसी से बातचीत में थाना सदर सरगोधा में ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मी मोहम्मद एहसान ने बताया, "इन लोगों को मारने का सिलसिला शुक्रवार रात से शुरू हुआ, लेकिन पुलिस को शनिवार की रात सूचना मिली."

लाहौर में धमाका, छह लोगों की मौत

पाकिस्तान: 'उर्स के जुलूस का नेतृत्व हिंदू भी करते हैं'

इमेज कॉपीरइट EPA

उन्होंने दावा किया, "जैसे ही दरबार मोहम्मद अली को मानने वाले दरगाह के केयरटेकर के पास पहुंचते थे, वह उन्हें नशीली दवा पिलाता था. इसके केयरटेकर अब्दुल वहीद को उनके तीन साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया है. मामले की जांच जारी है."

स्थानीय मीडिया में दिखाई जाने वाली फ़ुटेज के अनुसार कुछ मृतकों का पोस्टमॉर्टम पूरा कर लिया गया है और उन्हें परिवार के हवाले किया जा रहा है.

इलाके में पुलिस की ओर से जांच प्रक्रिया भी जारी है.

घटनास्थल पर मौजूद एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, "सभी मृतक दरबार मोहम्मद अली के मानने वाले थे. इनमें तीन महिलाएं और 17 पुरुष हैं."

अब 'रद्द-उल-फ़साद' करेगी पाकिस्तानी सेना

सूफ़ी भी होते हैं पक्के मुसलमान

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पाकिस्तान में नूरानी दरगाह पर पचास से अधिक लोगों की मौत

उन्होंने बताया कि यह गांव एक छोटा-सा दरबार है जिसके पीर की मृत्यु तीन साल पहले हो गई थी.

संदिग्ध हत्यारा अब्दुल वहीद पंजाब चुनाव आयोग का सेवानिवृत्त डिप्टी डायरेक्टर है और अब दरबार में बिना रजिस्ट्रेशन के ख़लीफ़ा के पद पर काबिज है.

जांच के दौरान पुलिस के अनुसार अब्दुल वहीद ने कबूल किया कि 'अनुयायियों को इस संदेह में मार डाला गया कि वे अली अहमद गुज्जर नामक पिछले पीर को ज़हर देने की साजिश का हिस्सा थे.'

पाकिस्तान: सूफ़ी शाह नूरानी दरगाह में धमाका, 52 मौतें

पहले भी दरगाहों पर खेला गया है ख़ूनी खेल

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे