उत्तर कोरिया का मसला अकेले हल करेगा अमरीका: ट्रंप

  • 3 अप्रैल 2017
शी जिनपिंग और डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि चीन का साथ मिले न मिले, अमरीका उत्तर कोरिया के परमाणु ख़तरे को 'हल' करके रहेगा.

ब्रिटेन के अख़बार फ़ाइनेंशियल टाइम्स के साथ साक्षात्कार में उन्होंने कहा, "अगर चीन उत्तर कोरिया के मसले का हल नहीं करेगा तो हम करेंगे."

जब उनसे ये पूछा गया कि क्या वो मानते हैं कि इसमें वो अकेले ही सफल होंगे, उनका जवाब था, 'पूरी तरह.'

ट्रंप ने कहा, "उत्तर कोरिया पर चीन का बहुत प्रभाव है और चीन को ये फैसला करना होगा कि वो उत्तर कोरिया के मामले में हमारी मदद करे या नहीं. अगर वो ऐसा करता है तो चीन के लिए ये बहुत अच्छी बात होगी और अगर वो ऐसा नहीं करता तो ये किसी के लिए अच्छा नहीं होगा."

उत्तर कोरिया का मिसाइल परीक्षण 'विफल'

उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ सैन्य विकल्प खुला: टिलरसन

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@REALDONALDTRUMP

हालांकि अकेले कार्रवाई करने के सवाल पर उन्होंने साफ जवाब नहीं दिया.

गुरुवार को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ उनकी बैठक होने जा रही है और उससे पहले ट्रंप की ओर से ये टिप्पणी आई है.

इस बात की आशंका जताई जा रही है कि प्योंगयांग लंबी दूरी की ऐसी परमाणु मिसाइल बनाने में सफल हो सकता है जो अमरीका के अंदर तक मार कर सकती हो.

मार्च में एशिया के दौरे पर आए अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा था कि सैन्य कार्रवाई का विकल्प मौजूद है.

उत्तर कोरिया के एकमात्र अंतरराष्ट्रीय सहयोगी चीन ने हालिया मिसाइल परीक्षणों को लेकर कड़ा रुख़ अपनाया है.

चीन ने उत्तर कोरिया से कहा बंद करो मिसाइल परीक्षण

उत्तर कोरिया ने दागी चार मिसाइलें, तीन जापान में गिरीं

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
उत्तर कोरिया की चुनौती

बीती फ़रवरी में उसने उत्तर कोरिया से 2017 के अंत तक के लिए कोयला आयात पर प्रतिबंध लगा दिया जो कि प्योंगयांग के विदेशी मुद्रा का एक बड़ा स्रोत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे