सीरिया में 'रासायनिक हमले' के पीछे असद: अमरीका

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका का कहना है कि उसे पूरा यकीन है कि सीरिया में हुए संदिग्ध रासायनिक हमले के पीछे बशर अल असद की सरकार का हाथ है.

इस संदिग्ध रासायनिक हमले में कम से कम 58 लोग मारे गए हैं.

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और मॉनिटरिंग समूहों का कहना है कि सीरिया में विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इदलिब शहर में संदिग्ध रासायनिक हमला हुआ.

इमेज कॉपीरइट AFP

द सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फ़ॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक ख़ान शेखौन में सीरियाई सरकार और रूसी जेट के हमले में कई लोगों के दम घुटने की ख़बरें आई हैं.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस मामले पर बुधवार को चर्चा होगी.

सीरिया में विद्रोहियों का नया हमला

सीरिया में हवाई हमले में 42 की मौत

इमेज कॉपीरइट Reuters

राष्ट्रपति बशर अल असद के विपक्षियों की स्थानीय कोऑर्डिनेशन कमेटियों के नेटवर्क ने उन लोगों की तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनके बारे में कहा जा रहा है कि उनकी मौत दम घुटने से हुई है.

सीरिया सेना ने इस बात से इनकार किया है कि सरकार ने रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया.

हालांकि संयुक्त राष्ट्र और ऑर्गनाइज़ेशन फॉर द प्रोहिबिशन ऑफ़ केमिकल वीपन की पिछले साल अक्टूबर में जांच के निष्कर्ष में कहा गया है कि साल 2014 से 2015 के बीच सरकारी सेना ने कम से कम तीन बार क्लोरीन का हथियार के रूप में इस्तेमाल किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जांच में यह भी पाया गया कि इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों ने मस्टर्ड गैस का इस्तेमाल किया जिससे शरीर पर फफोले निकल आते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)