चीनी राष्ट्रपति के अमरीका दौरे से पहले उत्तर कोरिया का मिसाइल परीक्षण

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption इस मिसाइल परीक्षण को जापान ने बताया नया ख़तरा

अमरीकी और दक्षिणी कोरियाई अधिकारियों का कहना है कि उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी पोर्ट सिंपो से जापानी सागर में एक बलीस्टिक मिसाइल दागी है.

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री ने कहा कि मिसाइल करीब 60 किलोमीटर तक गई. उत्तर कोरिया के हाल के परीक्षणों में यह सबसे ताजा परीक्षण है.

हालांकि इस परीक्षण को शांतिपूर्वक बताया गया है, लेकिन पश्चिमी देशों को डर है कि यह उसके परमाणु हथियार कार्यक्रम का हिस्सा हो सकता है.

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अमरीकी यात्रा से पहले उत्तर कोरिया ने यह परीक्षण किया है. चीनी राष्ट्रपति अपने अमरीकी समकक्ष डोनल्ड ट्रंप से मुलाक़ात करेंगे.

उत्तर कोरिया का मिसाइल टेस्ट: जापान को अमरीकी समर्थन का भरोसा

दोनों नेता उत्तर कोरिया के मिसाइल कार्यक्रम पर लगाम लगाने को लेकर भी बात करेंगे. संयुक्त राष्ट्र की तरफ़ से उत्तर कोरिया पर मिसाइल और परमाणु परीक्षण को लेकर प्रतिबंध लगा हुआ है.

उत्तर कोरिया ने दागी चार मिसाइलें, तीन जापान में गिरीं

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रशांत महासागर में अमरीकी सैन्य कमांड का कहना है कि उत्तर कोरिया के हाल के परीक्षण KN-15 मध्य-रेंज के बैलेस्टिक मिसाइल हैं.

बयान में कहा गया है, ''उत्तरी अमरीकी एयरोस्पेस डिफेंस कमांड उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण को उत्तरी अमरीका के लिए ख़तरा नहीं बनने देगा.''

उत्तर कोरिया के 'एटम बम' में कितना दम?

पिछले महीने उत्तर कोरिया ने चार बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था.

ये परीक्षण तोंगचांग-री इलाक़े से जापानी सागर की ओर किया गया था. यह चीनी सरहद के पास है. जापानी पीएम शिंजो अबे ने इसे नया ख़तरा करार दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे