घरेलू हिंसा का मामला- 'नई गर्लफ्रेंड के बारे में पुलिस को बताया होगा'

ब्रिटेन में घरेलू हिंसा के मामले में पुलिस ने पूर्व प्रेमी को एक ऐतिहासिक आदेश सुनाया है. घरेलू हिंसा की शिकार महिला इस आदेश से संतुष्ट हैं.

महिला का मानना है कि अब उनका परिवार और बाक़ी महिलाएं सुरक्षित रह पाएंगी.

किले गॉडफ्री को पुलिस का आदेश मानना होगा. उन्हें किसी भी लड़की के साथ 14 दिन से ज़्यादा रिश्ता रखने पर इसकी जानकारी पुलिस को देनी होगी.

गॉडफ्री की गर्लफ्रेंड रह चुकीं शिरा ने बीबीसी को बताया कि उन्हें उम्मीद है कि ''इसके बाद वो किसी भी रिश्ते में पड़ने से पहले दो बार सोचेंगे.''

30 साल के गॉडफ्री फिलहाल तीन साल की जेल की सज़ा काट रहे हैं.

ऐसा माना जा रहा है कि इंग्लैंड औऱ वेल्स में पहली बार इस तरह का आदेश जारी हुआ है.

अफ़ग़ानिस्तान: पति ने दिए ज़ख़्म तो रेस्तरां ने दिया सहारा

ब्राज़ील: जिनके नाम पर बना घरेलू हिंसा क़ानून

इमेज कॉपीरइट METROPOLITAN POLICE

वो बुरा एहसास

शिरा अपना पूरा नाम नहीं बताना चाहतीं, उन्होने बीबीसी के विक्टोरिया डर्बिशायर कार्यक्रम में बताया कि 2011 में गॉडफ्री से मिलने के कुछ ही दिनों बाद उन्हें प्रताड़ित करना शुरू कर दिया गया था.

वो कहती हैं '' पहली घटना हमारे मिलने के कुछ ही दिनों बाद फोन के मुद्दे को लेकर हुई. मुझे लगा कि वो हद से ज्यादा ख़्याल रखने वाले व्यक्ति हैं लेकिन असल में उन्हें जलन होती थी. वो पागलों की तरह लगातार मेरे फोन को जांचता रहता था, और हर वक़्त मुझे अपमानित करता रहता था.''

एक घटना को याद करते हुए वो बताती हैं, ''उसने ज़मीन पर चार-पांच बार मेरा सिर पटक दिया. मुझे लगा मैं मरने वाली हूं. मैंने प्रार्थना की और महसूस किया कि कोई भी इस तरह के हालातों का शिकार ना हो. मेरी ज़िंदगी इससे कहीं ज़्यादा अहम है.''

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

ख़ुद को कैसे बचाया

गॉडफ्री के आपराधिक व्यवहार को लेकर दिया गया आदेश सात साल तक लागू रहेगा. इस आदेश के अनुसार उन्हें अपनी नई गर्लफ्रेंड को पुरानी महिलाओं साथ किए गए हिंसक व्यवहार के बारे में बताना होगा.

शिरा का कहना है कि इस आदेश के बाद वो ख़ुद को ज़्यादा सुरक्षित महसूस कर रही हैं और बाक़ी महिलाएं भी इससे सुरक्षित रहेंगी.

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

एक नई शुरूआत

गिरफ़्तारी के बाद गॉडफ्री ने एक महिला को धमकाना जारी रखा, ज़मानत के दौरान उसने जिस नई महिला के साथ नए रिश्ते की शुरूआत की थी उसके साथ भी मारपीट की.

शिरा का कहना है कि उन्हें सज़ा मिलने से वो राहत महसूस कर रही हैं.

वो कहती हैं, ''अब मैं ज़िंदगी में आगे बढ़ने पर ध्यान दे पाऊँगी. किसी को भी घेरलू हिंसा का शिकार नहीं बनना चाहिए, ख़ासतौर से जिन महिलाओं के बच्चे हों.''

मेट पुलिस के हैकनी कम्यूनिटी सेफटी यूनिट के इंस्पेक्टर जेन टॉपिंग ने कहा, ''इस आदेश के बाद हम घरेलू हिंसा की पीड़ितों की सुरक्षा नए तरीके से कर सकते हैं, और कई और महिलाओं को गॉडफ्री जैसे लोगों के हाथों परेशान होने से बचा सकते हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे