हिटलर पर व्हाइट हाउस प्रेस सचिव सान स्पाइसर ने मांगी माफ़ी

सान स्पाइसर

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सान स्पाइसर ने एडोल्फ हिटलर को लेकर दिए अपने बयान पर माफ़ी मांग ली है. सान ने सीरिया में रासायनिक हथियार के इस्तेमाल पर कहा था कि दूसरे विश्व युद्ध में हिटलर ने भी रासायनिक हथियार का इस्तेमाल नहीं किया था.

उन्होंने इस बयान के लिए माफ़ी मांगते हुए कहा, ''मैंने यहूदियों के नरसंहार के मामले में ग़लती से अनुचित और असंवेदनशील तुलना की. इसके लिए मैं माफ़ी मागंता हूं. मैंने ग़लती की है.''

युद्ध की आग में क्यों जल रहा है सीरिया ?

आलोचकों का कहना है कि यहूदियों के कत्लेआम और अन्य नरसंहारों में गैस का इस्तेमाल किया गया था. सान स्पाइसर ने सीरियाई सरकार का साथ देने के लिए रूस की आलोचना की है. व्हाइट हाउस ने कहा है कि रूस रासायनिक हमले में मारे गए 89 लोगों के मामले में आरोपों से मुक्त होना चाहता है.

अमरीकी खुफिया रिपोर्ट्स का कहना है सीरियाई सरकार ने हवाई हमले के दौरान रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया. सीरिया ने इस मामले में अपने ऊपर लगे आरोपों को ख़ारिज कर दिया है. दूसरी तरफ़ रूस ने इस मामले में सीरिया में विद्रोही ग्रुपों को ज़िम्मेदार ठहराया है. रूस का कहना है कि विद्रोही समूहों ने रासायनिक हथियारों को एकत्रित कर रखा है.

सीरिया पर कौन अमरीका के साथ और कौन ख़िलाफ़?

स्पाइसर की टिप्पणी यहूदियों के त्योहार पासओवर के दौरान आई है. स्पाइसर के इस बयान से पत्रकार हैरान रह गए. सीरिया में रासायनिक हमले के बाद सीरियाई सैन्य बेस पर अमरीका ने 60 मिसाइलें दागी हैं. स्पाइसर को इस टिप्पणी के बाद स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे