सीरिया पर प्रस्ताव का रूस ने किया वीटो

इमेज कॉपीरइट Reuters

रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा पेश किए गए एक प्रस्ताव को वीटो लगाकर रोक दिया है. इस प्रस्ताव में सीरिया से विद्रोहियों के ठिकाने पर हाल ही में हुए रसायनिक हमले की जांच में सहयोग करने की मांग की जा रही है.

रूसी राजदूत ब्लादिमीर सैफ्रोनकोव ने कहा कि वह इस बात पर आश्चर्यचकित हैं कि पश्चिमी देश जांच के लिए घटनास्थल पर पहुंचे बिना ही सीरियाई नेता पर आरोप लगा सकते हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को क़साई कहा है. ट्रंप ने कहा है कि सीरिया में गृहयुद्ध ख़त्म होना चाहिए.

नेटो के महासचिव जेंस स्टॉल्टेनबर्ग के साथ एक साझा प्रेस वार्ता में बोलते हुए ट्रंप ने नागरिकों के नरसंहार के कुचक्र की आलोचना की.

बीते सप्ताह सीरिया में विद्रोहियों के क़ब्ज़े वाले ख़ान शैख़ून क़स्बे पर हुए संदिग्ध रसायनिक हमले में बच्चों समेत आम लोग मारे गए थे.

ट्रंप ने रसायनिक हमले पर रूस की प्रतिक्रिया को बेहद निराशाजनक बताते हुए कहा कि उनका सीरिया के सैन्य हवाई अड्डे पर मिसाइलें दागने का फ़ैसला सही था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption संदिग्ध रसायनिक हमले के बाद अमरीका ने सीरिया के सैन्य हवाई अड्डे पर टॉमहॉक मिसाइलें दागीं थीं.

ट्रंप का यू-टर्न कहा,'नेटो अप्रासंगिक नहीं'

इस प्रेस वार्ता में ट्रंप ने ये भी कहा है कि नेटो की प्रासंगिकता ख़त्म नहीं हुई. ट्रंप ने नेटो को लेकर अपना रुख बदल लिया है. इससे पहले नेटो को लेकर ट्रंप के रवैये ने उनके पश्चिमी सहयोगियों को चिंता में डाल दिया था.

नेटो महासचिव जेंस स्टॉल्टेनबर्ग का व्हाइट हाउस में स्वागत करते हुए ट्रंप ने कहा कि चरमपंथ के ख़तरों ने नेटो के महत्व को रेखांकित किया है.

उन्होंने कहा कि नेटो को अफ़ग़ान और इराक़ी सहयोगियों की मदद के लिए और अधिक काम करना चाहिए.

ट्रंप नेटो पर लगातार सवाल उठाते रहे थे. उनका कहना था कि अमरीका नेटो का सबसे ज़्यादा ख़र्च उठाता है.

सीरिया को लेकर ट्रंप और पुतिन में बयानों की जंग

सीरियाः 19 ट्वीट में कैसे बदल गई ट्रंप की नीति

बुधवार को नेटो पर लिया गया ट्रंप का यू-टर्न उनकी नीति में हुआ अकेला बदलाव नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AFP

वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि वो चीन को मुद्रा में हेरफेर के लिए चिन्हित नहीं करेंगे.

ट्रंप ने कई बार कहा था कि वो राष्ट्रपति कार्यालय में अपने पहले दिन ही ऐसा कर देंगे.

स्टॉल्टेनबर्ग के साथ साझा प्रेस वार्ता में ट्रंप ने कहा, "महासचिव और मेरे बीच नेटो, चरमपंथ को रोकने के लिए और क्या कर सकता है, इस विषय पर सार्थक चर्चा हुई है."

ट्रंप ने कहा, "मैंने कहा था कि नेटो अप्रासंगिक हो गया है. अब ये अप्रासंगिक नहीं है."

हालांकि ट्रंप ने नेटो सहयोगी देशों के और अधिक ख़र्च उठाने की अपनी मांग को फिर से दोहराया है.

ट्रंप ने कहा "यदि अन्य देश अमरीका पर निर्भर रहने के बजाए अपने हिस्से का जायज़ ख़र्चा उठाएंगे तो हम और अधिक सुरक्षित हो जाएंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे