मलाला बनीं कनाडा की मानद नागरिक

इमेज कॉपीरइट Reuters

नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई ने कहा है कि कनाडा की मानद नागरिकता मिलने पर वो अच्छा महसूस कर रही हैं.

ये उपलब्धि हासिल करनेवाली वो छठी शख्सियत हैं.

19 साल की उम्र में ये सम्मान हासिल करनेवाली वो सबसे युवा व्यक्ति भी हैं.

ओटावा में एक आधिकारिक समारोह में उन्होंने कनाडा के राजनेताओं से कहा कि वे अपने प्रभाव का इस्तेमाल दुनिया में लड़कियों की तालीम के लिए फ़ंड जुटाने में करें जिनमें शरणार्थी भी शामिल हैं.

मलाला महिला अधिकारों और शिक्षा की वैश्विक पैरोकार हैं.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू ने उनके काम की तारीफ़ की और उन्हें "कनाडा की सबसे नई और संभवत: सबसे बहादुर नागरिक" बताया.

इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान की स्कूली छात्रा और कार्यकर्ता मलाला वो ये मानद नागरिकता अक्टूबर 2014 में ही हासिल करनी थी.

कनाडा की स्टीफ़न हार्पर की तत्कालीन सरकार ने उन्हें इस सम्मान से नवाज़ने का फ़ैसला लिया था.

लेकिन वो समारोह एक सेरेमोनियल गार्ड नैथन सिरिल्लो की गोलीबारी में मौत और संसद पर हुए हमले के कारण रद्द कर दिया गया था.

मलाला से पहले जिन पांच लोगों को ये कनाडा की मानद नागरिकता दी गई है वे हैं नेल्सन मंडेला, दलाई लामा, धार्मिक नेता आग़ा ख़ान, स्वीडेन के कूटनीतिज्ञ राउल वेलेनबर्ग और म्यांमार की नेता आंग सान सू ची.

मलाला पर ऑस्कर विजेता ने बनाई फ़िल्म

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे