बोको हराम से लड़ती ये नाइजीरियाई औरत

नाइजीरिया में एक स्कूल से इस्लामी चरमपंथी संगठन बोको हराम ने 270 से भी ज़्यादा लड़कियों का अपहरण कुछ साल पहले कर लिया था.

चिबोक कस्बे की इन लड़कियों में से अधिकांश का अब तक पता नहीं चल पाया है.

हिंसा से बचने और बोको हराम से लड़ने के लिए नाइजीरिया में सेना समर्थित कई हथियारबंद दस्ते भी बन गए हैं.

बोको हराम के निशाने पर आम तौर पर लड़कियां और महिलाएं ही होती हैं, लेकिन एक महिला ऐसी भी है, जिसने इस हिंसा के ख़िलाफ़ हथियार उठाया.

बोको हराम के कब्ज़े से 21 लड़कियां 'रिहा'

बोको हराम के चंगुल से निकली लड़कियां पहुंचीं घर

Image caption हनातू माई

पति की हत्या के बाद उठाया हथियार

34 साल की हनातू माई देश के उत्तर पूर्वी कस्बे चिबोक में रहती हैं और जब उनके पति की हत्या हुई इसके बाद, वो बोको हराम से लड़ने वाले ऐसे ही एक दस्ते में शामिल हुईं.

वो बताती हैं, "मैं इस ग्रुप में 2014 में शामिल हुई, इसी साल मेरे पति की हत्या हुई थी. वो भी ऐसे ही एक दस्ते के यूनिट कमांडर थे."

वो कहती हैं, "उन्हें बोको हराम ने मार डाला. इसलिए मैंने उनकी जगह ली और मर्दों के साथ काम करना शुरू किया."

इन हथियारबंद दस्तों को 'सिविलियन ज्वाइँट टास्क' के रूप में जाना जाता है. बोको हराम से लड़ने के लिए इन्हें 2013 में बनाया गया था.

सेना के प्रोत्साहन पर इन ग्रुपों में हज़ारों लोग शामिल हुए.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अगवा हुई स्कूली लड़कियों को छुड़ाने के लिए उनके माता पिता लगातार प्रदर्शन करते रहे हैं.

हथियारबंद समूह

हिंसा के प्रति धीमी कार्रवाई को लेकर नाइजीरियाई सेना की काफी आलोचना होती रही है.

इन वॉलंटियरों को जब चरमपंथियों की सूचना मिलती है, वो उनसे लड़ने के लिए निकल पड़ते हैं.

हनातू कहती हैं, "हम बोको हराम का पीछा करते हैं, उनको अपने हाथों से पकड़ते हैं और मार डालते हैं."

इसके लिए उन्होंने हथियार चलाने का भी प्रशिक्षण लिया.

एक घटना का ज़िक्र करते हुए वो कहती हैं, "कोंजुलारी गांव में हम गए, हमने बोको हराम के सदस्यों को पकड़ा और फिर उनको मार डाला."

उनका कहना है कि इसमें शामिल होने के बाद उनमें काफी कुछ बदलाव आया है, "शुरू में मैं काफी डरी हुई थी, लेकिन अब किसी बात से डर नहीं लगता."

हालांकि ऐसे अनियंत्रित और हथियारबंद दस्ते समस्या भी बन गए हैं.

मानवाधिकार संगठनों ने इन हथियारबंद समूहों द्वारा संदिग्ध बोको हराम सदस्यों और नागरिकों के ख़िलाफ़ किए गए उत्पीड़न की घटनाओं पर सवाल खड़े किए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे