लंदन के नाइट क्लब में 'एसिड अटैक'

इमेज कॉपीरइट PHIE MCKENZIE

पूर्वी लंदन के नाइट क्लब में रविवार देर रात हुए संदिग्ध तेज़ाब हमले में कम से कम 12 लोग ज़ख़्मी हो गए हैं.

पुलिस ने लंदन फ़ील्ड्स के सिडवर्थ स्ट्रीट पर स्थित नाइट क्लब मैंगल ई8 से सैकड़ों लोगों को बाहर निकाला है.

लंदन के फायर ब्रिगेड ने कहा है कि तेज़ तेज़ाब जैसे किसी ज्वलनशील पदार्थ को नाइटक्लब के अंदर फेंका गया था.

पुलिस का कहना है कि घायलों में 10 को एम्बुलेंस से अस्पताल ले जाया गया है.

लंदन हमले का मकसद शायद कभी पता ही न चले: पुलिस

पहली बार लंदन की सुरक्षा एक महिला के हाथ

इमेज कॉपीरइट LONDON AMBULANCE SERVICE

एसिड हमला

आम तौर पर किसी को नुकसान पहुंचाने के लिए दक्षिण एशिया में खासकर भारत में तेज़ाब का हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया जाता रहा है.

यहां किराने की दुकानों पर पहले आसानी से उपलब्ध होने वाले तेज़ाब की खुलेआम बिक्री पर प्रतिबंध भी लगाया जा चुका है.

पिछले साल भारत की सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को तेज़ाब हमलों में घायल हुए लोगों के इलाज का ख़र्च उठाने, उनका पुनर्वास करने और मुआवज़ा देने के आदेश दिए थे.

इमेज कॉपीरइट PA

क्लब में 600 लोग थे

लंदन फ़ायर ब्रिगेड के प्रवक्ता ने कहा, "हमारे पास बस इतनी सूचना है कि अज्ञात ज्वलनशील पदार्थ फेंका गया था. जांच में यह एक शक्तिशाली तेज़ाब जैसा पदार्थ पता चला है."

पता चला है कि घटना के समय नाइट क्लब में 600 लोग मौजूद थे.

इस हमले में पुलिस ने अभी तक किसी को गिरफ़्तार नहीं किया है और जांच चल रही है.

प्रत्यक्षदर्शी फ़ी मैकेंजी ने घटना की तस्वीरें ट्वीट करते हुए लिखा है, "आज रात की भयावह तस्वीरें, हमने ऐसी ख़बरें सुनी है कि इमारत के अंदर मौजूद लोग रासायनिक पदार्थ से झुलस गए हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे