पाकिस्तान में भैंसों की सौंदर्य प्रतियोगिता

  • 27 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट WIKIMEDIA/JUGNI

पाकिस्तान की सबसे ख़ूबसूरत अज़ीखेली भैंस की खोज के लिए हुई प्रतियोगिता में क़रीब दो सौ भैंसों ने हिस्सा लिया.

'द डॉन' अख़बार की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान के उत्तरी ज़िले स्वात के मुख्यालय मिनगोरा में तीन दिन तक चले उत्सव में किसान और भैंस पालने वाले इकट्ठा हुए.

ये उत्सव भैंसों की इस प्रजाति को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जाता है.

इस कार्यक्रम को अमरीकी सरकार की नागरिक वित्तीय मदद एजेंसी यूएसएड से सहायता प्राप्त थी. जीतने वाली भैंस को 75 हज़ार रुपए का इनाम दिया गया है.

ये इनाम लईक़ बदर नाम के किसान ने जीता. उन्होंने डॉन अख़बार से कहा, "मेरे पास इस प्रजाति की दस भैंसे हैं जिनसे मेरा परिवार चलता है. मुझे गर्व है कि मेरी भैंस ने ये इनाम जीता है."

ये पहली बार है जब पाकिस्तान में भैंस सौंदर्य प्रतियोगिता हुई है.

झोपड़ी में रहने और भैंस दुहने वाले मंत्री

पाकिस्तान की सरकारी समाचार सेवा एसोसिएटेड प्रेस ऑफ़ पाकिस्तान से बात करते हुए पशुधन मंत्रालय के एक अधिकारी मुहीबुल्लाह ख़ान ने कहा, "अज़ीखेली प्रजाति पर लुप्त होने का ख़तरा मंडरा रहा है. इस उत्सव का उद्देश्य लोगों में इस ख़ूबसूरत भैंस प्रजाति के प्रति जागरूकता पैदा करना है."

भैंस की ये प्रजाति सिर्फ़ स्वात क्षेत्र में ही पाई जाती है. कहा जाता है कि इस क्षेत्र के ठंडे वातावरण में रहने के लिए अनुकूल ये अकेली प्रजाति है.

इसका मतलब ये है कि जब क्षेत्र में ठंड बढ़ती है तो भैंस मालिकों को अपने जानवर बेचने नहीं पड़ते.

ये भैंसे यहां के ठंडे वातावरण में भी रह लेती हैं. द डॉन अख़बार के मुताबिक मिनगोरा में जुटे विशेषज्ञों का कहना था कि ये भैंस न सिर्फ़ देखने में ख़ूबसूरत होती हैं बल्कि ये ज़्यादा दूध देती है और इसका मीट भी बेहतर होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे