मिशेल ओबामा की नज़र में 'राजनीति है मुश्किल'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका की पूर्व फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा ने 'राजनीति को मुश्किल' बताते हुए संकेत दिया है कि वो राजनीति का रुख नहीं करेंगी.

व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद पहली बार सार्वजनिक तौर पर मुखातिब हुईं मिशेल ओबामा ने कहा, "राजनीति मुश्किल है. जब तक आप शुरुआत नहीं करते ये अच्छा लगता है लेकिन फिर छुरियां बाहर आ जाती हैं."

उन्होंने ऑरलैंडो में कहा कि ये परिवार के लिए बहुत कठिन होता है.

मिशेल ओबामा ने कहा, "मैं अपने बच्चों से दोबारा ऐसा करने के लिए नहीं कहूंगी. जब आप ऊंचे पद के लिए दावेदारी करते हैं तो वहां सिर्फ आप नहीं होते. आपका पूरा परिवार होता है."

हालांकि उन्होंने ये भी कहा, "लोगों की सेवा करना हमेशा हमारे खून में रहेगा."

वॉशिंगटन हिलाने के बजाय ख़ुद ही हिल गए ट्रंप!

अमरीका की फर्स्ट लेडी रहते हुए भी मिशेल ओबामा ने अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं को दरकिनार ही किया था लेकिन अमरीका में राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव के अभियान के बाद से उन्होंने पहली बार इस तरह का संकेत दिया है.

चुनाव अभियान के दौरान उन्हें डेमोक्रेटिक पार्टी के सबसे प्रभावी चेहरे के तौर पर देखा गया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद के 100 दिन ओबामा परिवार के लिए कैसे रहे हैं, इस सवाल पर मिशेल ओबामा ने कहा, "अब तक सब ठीक रहा है."

देखा है मिशेल ओबामा का ये रूप?

उन्होंने ये भी कहा कि व्हाइट हाउस छोड़ते वक्त उन्हें अपने आंसुओं को काबू करने के लिए मशक्कत करनी पड़ी थी.

उन्होंने कहा, "मैं नहीं चाहती थी कि आंखों में आंसू आएं क्योंकि लोग कहेंगे कि मैं नए राष्ट्रपति की वजह से रो रही हूं."

मिशेल ओबामा के मुताबिक व्हाइट हाउस वो जगह थी जहां वो पूरी ज़िंदगी में सबसे ज्यादा वक्त तक रहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे