पहले 100 दिन में ओबामा के मुक़ाबले कहां ठहरते हैं ट्रंप?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

शनिवार को अमरीका में ट्रंप प्रशासन के 100 दिन पूरे हो गए हैं. अपने शुरुआती 100 दिनों में ट्रंप ने चुनावी वादों को पूरा करने के लिए क्या किया, विरोध और समर्थन के बीच ट्रंप प्रशासन किस दिशा में आगे बढ़ रहा है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के सौ दिन

अमरीका को क्या बनाना चाहते हैं ट्रंप?

डोनल्ड ट्रंप- 100 दिनों के कार्यकाल में कितने वादे पूरे किए?

कार्यकारी आदेश

राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सत्ता संभालते ही अपने चुनावी वादों को पूरा करने के लिए कार्यकारी आदेशों का इस्तेमाल किया था. उन्होंने एक बड़े अंतरराष्ट्रीय व्यापार समझौते को ख़त्म कर दिया था और व्यापार नियमों में ढील दी थी. कार्यकारी आदेशों का इस्तेमाल करने के मामले में वो ओबामा जैसी रफ़्तार से ही चल रहे हैं लेकिन 21 अप्रैल तक वो ओबामा से अधिक कार्यकारी आदेश जारी कर चुके हैं.

अनुमोदन रेटिंग

चुनाव अभियान के दौरान लोकप्रियता के मामले में ट्रंप की रेटिंग कम ही रही थी और उन्होंने कम मत पाकर भी राष्ट्रपति चुनाव 2016 जीत लिया था. वो व्हाइट हाउस में किसी भी नए राष्ट्रपति की सबसे कम लोकप्रियता रेटिंग के साथ दाख़िल हुए थे और उनकी रेटिंग हालिया राष्ट्रपतियों के मुक़ाबले में अब भी कम ही बनी हुई है.

आशंकाएं

ट्रंप के चुनावी वादों में सबसे अहम था ग़ैरक़ानूनी प्रवासियों पर सख़्ती करना और ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि ट्रंप ऐसा कर पा रहे हैं. अमरीकी सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक जनवरी 2017 के बाद से मैक्सिको से अमरीका आने के प्रयास करने वालों की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है. सरकार का कहना है कि ये इस बात का संकेत है कि ग़ैर क़ानूनी प्रवासी अमरीका आने से हतोत्साहित हो रहे हैं.

नौकरियां

जब बराक ओबामा 2009 में राष्ट्रपति बने थे तब अमरीका 1930 के बाद की सबसे भीषण मंदी से गुज़र रहा था. ओबामा के शासनकाल के पहले महीने में ही आठ लाख लोगों की नौकरियां चली गईं थीं. अगले कुछ महीनों की गिरावट के बाद उस साल अमरीका के इतिहास में सबसे ज़्यादा नौकरियां बढ़ीं.

ट्रंप के शासनकाल के पहले तीन महीने रोजगार के मामले में स्थिर दिखते हैं लेकिन मार्च के आंकड़े बताते हैं कि नौकरियों के मामले में ट्रंप उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पा रहे हैं.

बाज़ार

ट्रंप ने शेयर बाज़ार का हवाला देते हुए कहा है कि व्यापार जगत में ग़ज़ब की सकारात्मकता आई है. ट्रंप प्रशासन के पहले कुछ सप्ताह में डाऊ जोंस, एसएंडपी 500 और नैसडैक सूचकांकों में रिकॉर्ड उछाल देखने को मिला. लेकिन रिपब्लिकन पार्टी के हेल्थकेयर प्लान के नाकाम होने और कर सुधारों के साथ प्रगति की स्पष्ट कमी के कारण मार्च में तीनों सूचकांकों की वृद्धि में कमी आई है.

हेल्थकेयर

ओबामा के सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं देने की महत्वाकांक्षी योजना ओबामाकेयर को निरस्त करना और नई योजना से बदलना ट्रंप के चुनाव अभियान का प्रमुख वादा था.

ओबामाकेयर के नाम से चर्चित एसीए एक्ट के पहले से स्वास्थ्य बीमा न पाने वाले बीस लाख अमरीकियों को स्वास्थ्य बीमा देने के बावजूद रिपब्लिकन पार्टी इस क़ानून को ख़त्म करने के लिए उतावली थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

रिपब्लिकन पार्टी की योजना सामने के आने के बाद बजट फ़ैसलों की समीक्षा करने वाली एक तटस्थ संघीय एजेंसी ने कहा कि ओबामाकेयर को ख़त्म किए जाने से 2026 तक 2 करोड़ 40 लाख अमरीकी अपना स्वास्थ्य बीमा गंवा देंगे.

कांग्रेस में पर्याप्त रिपब्लिकन सीनेटरों का समर्थन न मिलने के बाद ओबामाकेयर को ख़त्म करने की योजना को रद्द कर दिया गया. हालांकि ट्रंप का कहना है कि वो इसकी जगह एक और क़ानून लाने पर काम कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे