तीसरी बार एवरेस्ट पर पर चढ़ने में नाकाम रहे उली स्टेक

इमेज कॉपीरइट EPA

स्विट्जरलैंड के जाने-माने पर्वतारोही उली स्टेक की एवरेस्ट पर चढ़ने के दौरान मौत हो गई है. वह इससे पहले दो बार साल 2012 और 2015 में भी एवरेस्ट पर चढ़ चुके हैं.

उली स्टेक को स्विस मशीन के रूप में जाना जाता है. वो इससे पहले दोनों बार एवरेस्ट पर बिना ऑक्सीजन सिलेंडर के चढ़ने में कामयाब हुए थे.

स्टेक इस बार एक नए रास्ते से एवरेस्ट पर चढ़ने की कोशिश रहे थे. इसी दौरान ये हादसा हुआ.

पढ़ें: दुनिया की सबसे ऊँची चोटी पर हुई 'मारपीट'

पढ़ें: माउंट एवरेस्ट पर होने वाली मौतों का रहस्य

40 वर्षीय स्टेक के पार्थिव शरीर को एवरेस्ट से निकालकर हेलिकॉप्टर की मदद से काठमांडू लाया गया है.

बीते बुधवार को स्टेक ने अपने फ़ेसबुक अकाउंट पर लिखा था कि ऊंची जगहों के लिए खुद को तैयार करने के लिए जरूरी है कि लगातार अभ्यास किया जाए और उन्होंने दिन में बेस कैंप से सात हजार मीटर की ऊंचाई तक चढ़ाई करके वापसी की है.

इमेज कॉपीरइट AFP

पढ़ें सुखाया गया माउंट एवरेस्ट का तालाब

ब्रिटेन के पर्वतारोही केंटन कूल ने स्टेक को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें एक सच्ची प्रेरणा बताया है. उन्होंने कहा है कि स्टेक ने हम सबको दिखाया कि पर्वतों और उनके पार की दुनिया कैसी है.

स्टेक चढ़ाई के दौरान बनाई फिल्मों से लोगों में पर्वतारोहण को लेकर रुचि पैदा करने के लिए मशहूर रहे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)