हाथ से लिखी 700 मीटर लंबी क़ुरान

  • 3 मई 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters

मिस्र के साद मोहम्मद ने तीन साल की कड़ी मेहनत के बाद हाथ से दुनिया की सबसे लंबी क़ुरान लिखकर इतिहास बनाने का दावा किया है.

साद मोहम्मद ने हाथों से इसकी सजावट भी की है. इसकी लंबाई 700 मीटर यानी 2296 फीट है, जिसका मतलब है कि जब इसे पूरी तरह खोला जाएगा तो ये 381 मीटर ऊँची न्यूयॉर्क की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी दोगुना लंबी होगी.

'सद्दाम ने अपने 26 लीटर ख़ून से लिखवाई थी कुरान'

आठ साल की उम्र में ज़बानी याद है क़ुरान

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इस क़ुरान को लिखने में साद मोहम्मद को तीन साल का वक़्त लगा

साद मोहम्मद उत्तरी काहिरा के बेलक़ीना शहर में रहते हैं. इस प्रोजेक्ट का सारा ख़र्चा भी उन्होंने ही उठाया है.

उन्होंने इस कुरान को काग़ज के एक बड़े रोल की तरह लपेट कर रखा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इसकी लंबाई को चलकर मापने में 5 मिनट लग जाएंगे

उनको उम्मीद है कि इसकी लंबाई इसे गिनीज़ बुक के रिकॉर्ड में जगह ज़रूर दिलाएगी. गिनीज़ बुक में अभी तक हाथ से लिखी क़ुरान का कोई स्थापित रिकॉर्ड नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लेकिन अपने इस सपने को पूरा करने के लिए और उसे रिकॉर्ड बुक में दाख़िल कराने के लिए उन्हें थोड़ी मदद की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

रॉयटर्स टीवी को दिए एक इंटरव्यू में साद ने कहा " ये क़ुरान 700 मीटर लंबी है और बेशक़ इसमें बहुत सारा काग़ज़ लगा है. पिछले तीन साल में इस प्रोजेक्ट पर मैंने ही सारा पैसा ख़र्च किया है, मैं एक साधारण व्यक्ति हूं. मेरे पास कोई संपत्ति वग़ैरह नहीं है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

क़ुरान को लेकर बने अब तक के रिकॉर्ड

  • गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक़ आधिकारिक तौर पर दुनिया की सबसे पुरानी क़ुरान ओथमान की पवित्र क़ुरान है जो 655 ईस्वी में लिखी गई. ये ओथमान के खलीफ़ा के पास थी. इसके 705 बचे हुए पन्ने उज़्बेकिस्तान में सुरक्षित रखे हैं.
  • हाथ से लिखी सबसे लंबी क़ुरान की एक और दावेदारी 2012 में अफ़गानिस्तान में सामने आई थी. ये 2.2 मीटर से ज़्यादा लंबी और 1.55 मीटर चौड़ी है. इसे 218 पन्नों पर ख़ूबसूरती से लिखा गया और इसे 21 बकरी की खाल से बने चमड़े में लपेट कर रखा गया है. 500 किलोग्राम की इस पवित्र किताब की रचना करने में 5 साल का वक़्त लगा था. लेकिन ये गिनीज़ बिक ऑफ रिकॉर्ड में आधिकारिक तौर पर दर्ज नहीं है.
  • अभी तक किसी ने भी सबसे छो़टी क़ुरान की दावेदारी पेश नहीं की है. हालांकि साल 2012 में अरब के एक व्यक्ति ने अपनी एक प्रति की दावेदारी पेश की थी, जो 5.1 सेंटीमीटर लंबी, 8 सेंटीमीटर चौड़ी और 550 पन्नों की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे