उ. कोरिया में एक और अमरीकी पकड़ा गया

इमेज कॉपीरइट PUST
Image caption प्योंगयांग यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी

उत्तर कोरिया ने एक अमरीकी नागरिक को देश के ख़िलाफ़ गतिविधियों के शक में हिरासत में लेने का दावा किया है.

उत्तर कोरिया में सरकार की तरफ़ से संचालित समाचार एजेंसी केसीएनए ने कहा है कि प्योंगयांग यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में काम करने वाले किम हाक सॉन्ग को छह मई को पकड़ा गया.

इस वक्त उत्तर कोरिया में तीन अन्य अमरीकी नागरिक भी हिरासत में हैं, इनमें प्योंगयांग यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के ही किम सांग डक भी शामिल हैं.

अमरीका पहले भी उत्तर कोरिया पर अमरीकी नागरिकों को हिरासत में लेकर मोहरों की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगा चुका है.

कैसा है उत्तर कोरिया का परमाणु संयंत्र?

क्या उत्तर कोरिया की मिसाइलें नकली हैं?

केसीएनए ने कहा है कि किम हाक-सॉन्ग के कथित अपराधों की जांच संबंधित संस्था कर रही है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ओटो वार्मबिएर को पिछले साल जनवरी में पकड़ा गया था

वहीं एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि वॉशिंगटन को उत्तर कोरिया में एक अमरीकी नागरिक को हिरासत में लिए जाने की रिपोर्टों की जानकारी है.

इस मामले में प्योंगयांग में स्वीडन के दूतावास के ज़रिए अमरीकी अधिकारी से बातचीत की जाएगी.

उत्तर कोरिया से अमरीका स्वीडन के दूतावास के ज़रिए बातचीत करता रहा है.

समाचार एजेंसी रॉयटर ने किम के ऑनलाइन पोस्ट के हवाले से कहा है कि किम हाक सॉन्ग ने ख़ुद को ईसाई मिशनरी बताया था जो यूनिवर्सिटी में एक प्रायोगिक फ़ार्म खोलना चाहते थे.

पहले भी पकड़े गए अमरीकी नागरिक

किम हाक सॉन्ग उत्तर कोरिया में पकड़े गए चौथे अमरीकी नागरिक हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीकी नागरिक किम डॉन्ग-चुल को 10 साल की सज़ा सुनाई गई थी

इससे पहले प्योंगयांग यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के किम सांग-डक को अप्रैल में कथित तौर पर सरकार पलटने की कोशिश के आरोप में पकड़ा गया था. दक्षिण कोरियाई मीडिया के मुताबिक वो 55 साल के हैं और उत्तर कोरिया में कथित तौर पर मानवीय गतिविधियां कर रहे थे.

पिछले साल जासूसी के आरोप में 62 साल के किम डॉन्ग-चुल को दस साल की सज़ा सुनाई गई थी.

22 साल के छात्र ओटो वार्मबिएर को होटल से चिह्न चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था और उन्हें 15 साल कड़ी मशक्कत की सज़ा सुनाई गई थी.

तनाव बरकरार

किम हाक सॉन्ग को हिरासत में लिए जाने की ख़बर ऐसे समय में आई है जब उत्तर कोरिया और अमरीका के बीच तनाव बढ़ा हुआ है.

बीते शुक्रवार को उत्तर कोरिया ने अमरीका और दक्षिण कोरियाई जासूसों पर उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन की हत्या की साज़िश करने का आरोप लगाया था.

अमरीकी और दक्षिण कोरियाई सरकारों ने इस आरोप पर कोई जवाब नहीं दिया है.

पिछले कुछ महीनों में उत्तर कोरिया लगातार परमाणु हमले की चेतावनी देता रहा है और अमरीका ने अपने युद्धपोत और पनडुब्बियां भी इस इलाके में तैनात किए हैं.

हालांकि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ये भी कह चुके हैं कि वो उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग उन से 'सही परिस्थितियों' में मिल कर सम्मानित महसूस करेंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस बीच उत्तर कोरिया के छठे परमाणु परीक्षण की धमकी के बाद अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच ज़ुबानी जंग तेज़ हो गई है.

अमरीकी सेना ने अपने विवादित थाड मिसाइल डिफेंस सिस्टम की दक्षिण कोरिया में तैनाती की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे