अमरीका में भारतीय मूल के डॉक्टर की 'हत्या'

  • 8 मई 2017
इमेज कॉपीरइट www. HenryFord.com

अमरीका के मिशिगन प्रांत में एक भारतीय मूल के डॉक्टर का शव बरामद किया गया है, उन्हें गोली लगी है.

पुलिस ने फ़्रीलैंड शहर के रहने वाले रमेश कुमार का शव डेट्रॉइट शहर के पास एक हाइवे के नज़दीक उनकी ही कार की पिछली सीट से बरामद किया.

रमेश कुमार के पिता नरेंद्र कुमार ने गुरुवार को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उनका बेटा सुबह दफ़्तर जाने के लिए निकला, लेकिन दफ़्तर पहुंचा नहीं.

32 वर्षीय रमेश कुमार डेट्रॉइट शहर में हेनरी फ़ोर्ड नामक अस्पताल में यूरोलोजी विभाग में डॉक्टर थे.

सूटकेस में मिली थी भारतीय मूल की किरन की लाश

कैंसस हमले से हिले हुए हैं अमरीका में भारतीय

उनके पिता के अनुसार जब उनके दफ़्तर से फ़ोन आया कि वह काम पर नहीं पहुंचे हैं तो उन्होंने रमेश कुमार के फ़ोन पर कई बार संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे, फिर उन्होंने फ़ोन पर कई टेक्स्ट मैसेज भी भेजे, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला.

तब नरेंद्र कुमार अपने बेटे के अपार्टमेंट भी गए और वहां भी जब वह नहीं मिले तो रमेश कुमार के पिता ने पुलिस को सूचना दी.

इमेज कॉपीरइट NarendraKumar

खबरों के अनुसार पुलिस ने उनसे चंद घंटे और रुकने को कहा. फिर कुछ घंटों के बाद नरेंद्र कुमार ने फिर पुलिस से संपर्क किया.

तब पुलिस ने रमेश कुमार को ढूंढना शुरू किया और हाइवे के नज़दीक स्थित विश्राम स्थल में खड़ी कार से रमेश कुमार की लाश बरामद की.

पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कर लिया है, लेकिन अभी रमेश कुमार की मौत के कारणों का पुलिस कोई जवाब नहीं दे रही है.

अभी ये भी नहीं कहा जा सकता कि रमेश कुमार की हत्या के पीछे नस्लीय भेदभाव कारण था या नहीं.

हाल के महीनों में अमरीका में कई भारतीय मूल के लोगों को नस्लीय हिंसा का निशाना बनाया जा चुका है.

भारत में मूल रूप से केरल राज्य के रहने वाले रमेश कुमार के पिता नरेंद्र कुमार भी डॉक्टर हैं और भारतीय मूल के अमरीकी डॉक्टरों की संस्था 'आपी' के अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे