फ़्रांस की नई 'फर्स्ट लेडी,' जिन्हें 24 साल छोटे लड़के से इश्क़ हुआ

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ब्रिजेट मैक्रों

'ब्रिजेट! ब्रिजेट! ब्रिजेट!'

वो महिला फ़्रांस के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ मंच पर आती है और भीड़ ज़ोरदार आवाज़ से उनका इस्तक़बाल करती है.

वह उनकी पत्नी हैं. लेकिन सबसे ज़रूरी बात, यह एक सामान्य रिश्ता नहीं है.

ख़ुद मैक्रों ने ब्रिजेट से शादी के दिन कहा था, 'बिल्कुल आम नहीं. यह जोड़ी बिल्कुल आम नहीं. मुझे यह विशेषण ख़ास पसंद नहीं है- लेकिन यह वह जोड़ी है जिसका वजूद है.'

पढ़ें: आसान नहीं डगर नवनिर्वाचित राष्ट्रपति मैक्रों की

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ब्रिजेट के साथ फ़्रांस के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति मैक्रों

मैक्रों और उनकी पत्नी की उम्र में 24 साल का फ़र्क़ है. अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के बीच भी उम्र का इतना ही अंतर है. लेकिन मैक्रों के मामले में पत्नी की उम्र ज़्यादा है.

मैक्रों 39 के हैं और ब्रिजेट 64 साल की हैं. दोनों की मुलाक़ात तब हुई जब मैक्रों एक स्कूली छात्र थे और ब्रिजेट उन्हें नाटक सिखाती थीं.

सभी मानते हैं कि 15 साल के इमैनुएल बौद्धिक तौर पर जल्दी परिपक्व हो गए थे. वह उत्तरी फ़्रांस के एमयां शहर के निजी जेसुइट स्कूल में पढ़ते थे.

ब्रिजेट ने एक बार कहा था कि मैक्रों उस वक़्त भी एक किशोर की तरह बात या बर्ताव नहीं करते थे, बल्कि उनके व्यस्कों से भी बराबरी के रिश्ते थे.

उन्होंने कहा, 'मैं इस लड़के की बुद्धि से प्रभावित हो गई.'

पढ़ें: फ़्रांस के सामने चुनौतियां और मैक्रों का एजेंडा

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ब्रिजेट के साथ फ़्रांस के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों

ब्रिजेट उस वक़्त ब्रिजेट ट्रॉन्यो कहलाती थीं. चॉकलेटियर कंपनी की वारिस ब्रिजेट पेशे से ड्रामा टीचर थीं और उनकी शादी बैंकर आंद्रे ऑज़िए से हुई थी. उनसे उनके तीन बच्चे थे.

इमैनुएल के मां-पिता को यह अंदेशा तो हो गया कि उनके बेटे को प्यार हो गया है, लेकिन वह इस बारे में कनफ़्यूज़ हो गए कि वह किस पर लट्टू है.

लेखिका ऐनी फुल्दा के मुताबिक, उन्हें लगा कि इमैनुएल को स्कूल में अपने साथ पढ़ने वाली लॉरैंस ऑज़िए पर क्रश हुआ है. लेकिन सच्चाई यह थी कि उन्हें लॉरेंस की मां से इश्क़ हुआ था.

पढ़ें: चुनाव जीतने के बाद क्या बोले मैक्रों

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ब्रिजेट के साथ मैक्रों

जब इमैनुएल के मां-बाप को इसका पता चला तो उन्होंने ब्रिजेट से कहा कि वह इमैनुएल के बालिग होने तक उनसे दूर रहें. ब्रिजेट ने जवाब दिया, 'मैं कोई वायदा नहीं कर सकती.'

17 की उम्र में इमैनुएल ने ब्रिजेट से कह दिया कि वह उन्हीं से शादी करेंगे. एक दशक बाद 2007 में उन्होंने अपना वादा पूरा किया.

मैक्रों की मां का कहना है कि वह ब्रिजेट को बहू से ज़्यादा 'एक दोस्त की तरह' मानती हैं.

अब लॉरेंस अपने 'दूसरे पिता' की प्रखर समर्थक हो गई हैं. वह पेरिस में अपने पिता की आख़िरी चुनावी सभा में भी दिखी थीं.

लॉरेंस की 32 वर्षीय बहन टिफेन एक वकील हैं और उन्होंने भी मैक्रों के प्रचार के लिए काम किया. जब पेरिस में मैक्रों परिवार रविवार की मतगणना के नतीजों का जश्न मना रहा था, टिफेन का परिवार भी उनके साथ मंच पर मौजूद था.

पढ़ें: इमैनुएल मैक्रों की जीत के 5 कारण

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अपनी बेटियों लॉरेंस (बाएं) और टिफेन के साथ ब्रिजेट (बीच में)

ब्रिजेट के तीन बच्चे और सात नाती-पोते हैं.

जब मैक्रों अर्थव्यवस्था के मंत्री बने थे तो ब्रिजेट शिक्षिका की नौकरी छोड़कर उनके भरोसेमंद सलाहकार की भूमिका निभाने लगी थीं.

मैक्रों के राजनीति में महिलाओं पर विचार प्रभावित करने का श्रेय ब्रिजेट को ही दिया जाता है. मैक्रों ने वादा किया है कि जून में होने वाले संसदीय चुनावों में उनकी पार्टी 'ला रिप्यूब्लिक आं मार्श' (रिपब्लिक ऑन द मूव) आधी सीटों पर महिला उम्मीदवार खड़े करेगी.

देखें तस्वीरें: पेरिस में मैक्रों की 'जीत' का जश्न

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एक कार्यक्रम में मैक्रों और ब्रिजेट

मैक्रों का यह भी कहना है कि वह 'प्रथम महिला' की भूमिका को औपचारिक रूप देना चाहते हैं. पिछले महीने 'वैनिटी फेयर' को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, 'अगर मैं चुना गया- नहीं, माफ कीजिए, जब हम चुने जाएंगे- वह एक भूमिका और अपनी जगह के साथ वहां मौजूद होगी.'

पूर्व शिक्षिका होने के नाते ब्रिजेट नौजवानों के लिए काम कर सकती हैं. वह यह कैसे करेंगी, यह देखना बाक़ी है.

मैक्रों का कहना है कि 'प्रथम महिला' की भूमिका के लिए कोई वेतन नहीं दिया जाएगा. उन्होंने कहा, 'उनका एक वजूद होगा. वहां उनकी एक आवाज़ होगी, चीज़ों पर राय होगी. वह हमेशा की तरह मेरे साथ खड़ी होंगी, लेकिन उनका एक पब्लिक रोल भी होगा.'

इमेज कॉपीरइट Inpho
Image caption अपना वोट डालने के बाद ब्रिजेट. उनके पीछे खड़े हैं इमैनुएल मैक्रों.

कुछ फ़्रेंच कार्टूनों में मैक्रों को एक छात्र की तरह दिखाया गया है जो शिक्षिका ब्रिजेट से निर्देश ले रहे हैं.

वहीं उनकी प्रतिद्वंद्वी मरी ल पेन ने बहुत सावधानी से उनके रिश्ते पर एक राजनीतिक टिप्पणी की है. अपने क़ाग़जों की ओर देखती हुई वह मुस्कुराईं और बोलीं, 'मिस्टर मैक्रों.. मैं देख रही हूं कि आप मेरे साथ शिक्षिका और छात्र का खेल खेलने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन जहां तक मेरा सवाल है, मुझे इससे कोई लेना-देना नहीं है.'

हालांकि श्रीमती मैक्रों ने यह दिखाया है कि वह अपने पति से उम्र के फ़ासले पर ख़ुद भी हंस सकती हैं.

एक किताब में उनका एक बयान छपा है, जिसके मुताबिक, 'उन्हें 2017 में ही यह करने (चुनाव लड़ने) की ज़रूरत है, क्योंकि 2022 तक 'मेरा चेहरा' उनकी समस्या बन चुका होगा.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़े और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे