कोमी को हटाना एकदम सही फ़ैसला: ट्रंप

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने संघीय जांच एजेंसी एफ़बीआई के निदेशक के पद से जेम्स कोमी को हटाने के फ़ैसले का बचाव किया है.

जेम्स कोमी को पद से हटाकर डोनल्ड ट्रंप ने सबको हैरान कर दिया था.

ट्रंप ने ट्वीट कर हिलेरी क्लिंटन के ईमेल मामले की जांच को लेकर जेम्स कोमी को हटाने के फ़ैसले का बचाव किया.

जेम्स कोमी ट्रंप के चुनाव प्रचार और रूस के संबंधों पर एफ़बीआई जांच की अगुवाई कर रहे थे.

ट्रंप का एफ़बीआई निदेशक को हटाना क्यों संदेह पैदा करता है?

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जेम्स कोमी

हाउस इंटेलीजेंस कमेटी में सर्वोच्च डैमोक्रेट नेता एडम शिफ़ ने कहा है,'' कोमी की बर्ख़ास्तगी से गंभीर सवाल उठता है कि क्या व्हाइट हाउस ढिठाई से आपराधिक मामले में हस्तक्षेप कर रहा है."

लेकिन रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से मुलाकात से पहले ट्रंप ने अपने फ़ैसले का बचाव किया.

सर्गेई लावरोव पहले रूसी अधिकारी हैं जिनसे डोनल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद मिल रहे हैं.

ट्रंप ने कहा,"जेम्स कोमी की जगह कोई ऐसा शख्स नियुक्त किया जाएगा जो इस काम को बेहतर तरीके से कर सके और जो एफ़बीआई की प्रतिष्ठा और उत्साह को वापस ला सके."

उन्होंने कहा, "कोमी वॉशिंगटन में सबका भरोसा खो चुके थे, चाहे वो रिपब्लिकन हों या डेमोक्रैट. जब चीज़ें शांत होंगी तो वो मेरा शुक्रिया अदा करेंगे!"

अमरीका में ये दूसरी बार है कि किसी एफ़बीआई प्रमुख को पद से बर्ख़ास्त किया गया है.

कोमी की बर्खास्तगी पर प्रतिक्रिया?

रूसी राष्ट्रपति कार्यालय, क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कॉव ने कोमी को हटाए जाने को अमरीका का अंदरूनी मामला बताया है.

रूस की सरकार की तरफ़ से संचालित समाचार एजेंसी तास के मुताबिक दिमित्री पेस्कॉव ने कहा कि इसका रूस से कोई लेना-देना नहीं है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप

इस बीच डेमोक्रैट नेता चक श्यूमर ने कहा है कि वो ज़रूरत पड़ने पर न्याय विभाग के वरिष्ठ नेताओं और सभी सीनेटरों के साथ एक गोपनीय बैठक की मांग कर सकते हैं.

उन्होंने एफ़बीआई की जांच की निगरानी एक विशेष प्रोसिक्यूटर से करवाने की अपील की.

वहीं सीनेट की इंजेलिजेंस कमेटी के प्रमुख रिपब्लिकन नेता रिचर्ड बर्र ने कहा कि वो जेम्स कोमी को हटाए जाने के समय को लेकर हैरान हैं.

ट्रंप ने क्यों हटाया जेम्स कोमी को?

ट्रंप ने जेम्स कोमी को लिखे पत्र में कहा है कि वो अटॉर्नी जनरल जेफ़ सेशन्स की उस सिफ़ारिश से सहमत हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि कोमी ब्यूरो का नेतृत्व ठीक से नहीं कर रहे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption हिलेरी क्लिंटन

हालांकि कई लोग इस बात से भी हैरान हैं कि कोमी को हिलेरी क्लिंटन के ईमेल मामले की जांच के लिए हटाया गया है. इसी मामले में कभी ट्रंप कोमी की प्रशंसा तक कर चुके हैं.

मंगलवार को ट्रंप ने डिप्टी अटॉर्नी जनरल रॉड रॉसेन्टीन की सिफ़ारिश मान ली जिसमें उन्होंने कहा था कि जेम्स कोमी ने जिस तरह हिलेरी क्लिंटन के मामले में जांच को संभाला, उसका बचाव नहीं कर सकते.

उन्होंने कहा कि कोमी ने जुलाई 2016 में क्लिंटन के ईमेल मामले में बिना मुकदमा चलाए जांच बंद करने का फ़ैसला अटॉर्नी जनरल की जगह ख़ुद सुनाकर सही नहीं किया.

बीबीसी के एंथनी ज़र्चर का कहना है कि ट्रंप प्रशासन ने कोमी को हटाने के लिए हिलेरी क्लिंटन के ईमेल मामले का कारण दिया है, लेकिन डेमोक्रैट नेता इसे ट्रंप के चुनाव प्रचार और रूस के संबंधों की जांच को पटरी से उतारने का बहाना बता रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)