बेटी को कब्र से ढूंढ निकालने वाली मां की हत्या

इमेज कॉपीरइट EPA

अपनी बेटी के अपहरण और हत्या की पड़ताल से सुर्खियों में आईं मैक्सिको की कारोबारी महिला और मानवाधिकार कार्यकर्ता मिरियम रोड्रिग्ज़ मार्टिनेज़ की हत्या कर दी गई है.

वो ऐसे 600 पीड़ित परिवारों की अगुवाई कर रही थीं, जिनके अपने ग़ायब हो गए और फिर कभी नहीं मिले.

स्थानीय ड्रग माफ़िया जेटाज़ ने उनकी बेटी कैरेन अलेजांद्रा का 2012 में अपहरण कर लिया था और फिर हत्या कर दी थी.

मिरियम ने इस पूरे मामले की जांच का खुद ही बीड़ा उठाया और अंततः बेटी के शव को एक गोपनीय कब्र से खोज निकालने में सफलता पाई.

लेकिन 10 मई को अपने ही घर में मिरियम को अज्ञात हमालवरों ने गोली मार दी. इसी दिन यहां मदर्स डे मनाया जाता है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 10 मई को मदर्स डे पर माएं अपने ग़ायब हुए बच्चों की तस्वीरें लेकर प्रदर्शन किया

बेटी के लिए लड़ाई

मिरियम रोड्रिग्ज़ की जांच के आधार पर मिली सूचनाओं के कारण ही उस गैंग के सदस्यों को जेल हुई थी जिसने उनकी बेटी की हत्या की थी.

लेकिन पिछले मार्च में इस गैंग का एक सदस्य फरार होने में क़ामयाब रहा. मिरियम की एक सहयोगी ने बताया कि इसके बाद ही उन्हें धमकियां मिलनी शुरू हो गई थीं.

उनके सहयोगियों का कहना है कि उन्होंने पुलिस सुरक्षा मांगी थी लेकिन इसे नज़रअंदाज़ कर दिया गया.

हालांकि सरकारी वकील ने इससे इनकार किया है.

एक बार जेटाज़ गैंग द्वारा उनके पति का अपहरण करने की कोशिश की गई थी. लेकिन मिरियम ने अपहरणकर्ताओं को अपनी कार से पीछा कर सेना के हाथों पकड़वाया था.

परिवार वाले ही बने जाँचकर्ता

इमेज कॉपीरइट EPA

मैक्सिको में ड्रग माफ़िया का काफी प्रभाव है और 2014 में 43 स्टूडेंट्स के ग़ायब होने के बाद रिश्तेदारों को खोजने वाले समूह जगह जगह बने.

सरकार की ओर से मदद की नाउम्मीदी के चलते इन परिवारों ने खुद ही अपने रिश्तेदारों की खोज को अपने हाथ में लेना शुरू कर दिया.

समूह के लोग फारेंसिक, एंथ्रोपोलोजी, आर्कियोलॉजी, क़ानून के कोर्स करके कब्रों और हड्डियों के बारे में खुद ही विशेषज्ञता हासिल करते हैं.

देश में इस तरह के कम से कम 13 ग्रुप हैं.

'23,000 लोग मारे गए'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption तीन साल पहले ग़ायब हुए 43 स्टूडेंट्स के परिजन आज भी उनका इंतज़ार कर रहे हैं

पूर्व राष्ट्रपति फेलिप काल्डेरॉन ने अपने कार्यकाल (2006 से 2012) के बीच ड्रग माफिया से निबटने के लिए सुरक्षाबलों को सेना जैसा बनाया.

पिछले दस सालों में ड्रग्स को लेकर होने वाली लड़ाईयों में हज़ारों लोग मारे गए.

इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्ट्रेटजिक स्टडीज़ के अनुसार, 2016 में मैक्सिको में 23,000 लोग मारे गए.

हालांकि इस आंकड़े पर मैक्सिको की सरकार ने सवाल उठाए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे