अंतरराष्ट्रीय अदालत ने जाधव की मौत की सज़ा पर रोक लगाई

  • 18 मई 2017
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जाधव फाइल फोटो

हेग की अंतरराष्ट्रीय अदालत ने पाकिस्तान की जेल में बंद भारत के कुलभूषण जाधव की मौत की सज़ा पर रोक लगा दी है.

अदालत ने कहा कि जब तक उनके मामले में अंतिम फैसला नहीं आ जाता उन्हें फांसी नहीं दी जा सकती.

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अदालत का फ़ैसला आने के बाद ट्वीट कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय अदालत का फ़ैसला कुलभूषण के परिवार और पूरे भारत के लिए राहत की ख़बर है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफ़ीस ज़कारिया ने कहा है कि भारत कुलभूषण जाधव के मामले को आईसीजे में ले जाकर अपना असली चेहरा छुपाने की कोशिश कर रहा है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कुलभूषण जाधव के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में मज़बूत सबूत पेश करेगा.

कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में फांसी की सज़ा सुनाई है.

जहाँ पाकिस्तान का आरोप है कि वो जासूस हैं, वहीं भारत कहता है कि जाधव का ईरान से अपहरण किया गया.

भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव लगभग एक साल से पाकिसतान में कैद हैं.

जाधव की फ़ांसी टालने को लेकर भारत ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस यानी आईसीजे का दरवाज़ा खटखटाया था.

11 जजों ने सर्वसम्मति से लिया फ़ैसला

इमेज कॉपीरइट ICJ

आईसीजे के प्रेसिडेंट ने कहा कि कुलभूषण जाधव की फांसी पर सुनवाई ख़त्म होने तक रोक लगाने का फ़ैसला सभी जजों का सर्वसम्मति से लिया गया फ़ैसला है.

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में 11 जजों की बेंच ने कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बारे में कहा कि इस गिरफ्तारी की स्थिति को लेकर अभी भी विवाद है.

इमेज कॉपीरइट EPA

आईसीजे ने कहा कि फांसी की सज़ा से माफ़ी के लिए पाकिस्तान में जो 150 दिनों का समय दिया गया है वो अगस्त में ख़त्म हो रहा है.

कोर्ट का फ़ैसला सुनाते हुए जज रॉनी एब्राहेम ने कहा- 'इससे पता चलता है कि अगस्त के बाद कभी भी उन्हें फांसी दी जा सकती है और ये मामला अर्जेंट है.'

पाक को काउंसलर मदद देनी चाहिए थी

अदालत ने पाकिस्तान की उस आपत्ति को खारिज कर दिया कि ये मामला उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता. हांलाकि अदालत ने ये भी कहा कि इस पर मतभेद हैं.

अदालत ने भारत और पाकिस्तान के बीच संधियों का हवाला दिया और कहा कि कहा कि 1977 से ही भारत और पाकिस्तान वियना संधि का हिस्सा हैं.

जाधव के मामले में अदालत ने कहा कि जाधव को काउंसलर मदद मिलनी चाहिए थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे