गुरुद्वारे में ब्रितानी विदेश मंत्री को पड़ी 'डाँट'

ब्रितानी विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने एक गुरुद्वारे में शराब के बारे में बात करके कई सिखों को नाराज़ कर दिया है.

वे इंग्लैंड के ब्रिस्टल शहर के एक गुरुद्वारे में गए थे. वे कंज़रवेटिव पार्टी के पक्ष में चुनाव प्रचार कर रहे हैं इसी मकसद से वो वहाँ गए थे.

ब्रिटेन में आठ जून को चुनाव होने वाले हैं. ब्रेक्सिट का फ़ैसला आने के बाद प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इस्तीफ़ा दे दिया था.

उसके बाद अंतरिम प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने जल्दी चुनाव कराने का ऐलान कर दिया है.

'सऊदी पर बोरिस जॉनसन ने जो कहा वो उनकी निजी राय'

नए ब्रितानी विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन की 5 ख़ास बातें

भारत में स्कॉच पर 150 फ़ीदी ड्यूटी

बोरिस जॉनसन ने गुरुद्वारे में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुआ कहा कि उनकी पार्टी भारत के साथ मुक्त व्यापार समझौता करना चाहती है.

उन्होंने कहा, "जब भी ब्रिटेन से भारत के लोग लौटते हैं तो अपने साथ ड्यूटी फ्री व्हिस्की की बोतल ज़रूर ले जाते हैं क्योंकि भारत में स्कॉच व्हिस्की पर 150 प्रतिशत ड्यूटी लगती है."

बोरिस जॉनसन का कहना था कि कंजरवेटिव पार्टी की सरकार आई तो भारत के लोग व्हिस्की का लुत्फ़ उठा सकेंगे क्योंकि मुक्त व्यापार के प्रावधानों के तहत स्कॉच पर ब्रिटेन इम्पोर्ट ड्यूटी नहीं लगाएगा.

इस पर सभा में मौजूद एक सिख महिला ने ज़ोरदार आपत्ति की और उन्होंने कहा, "ये बहुत ही बुरी बात है कि बोरिस जॉनसन गुरुद्वारे में आकर शराब को बढ़ावा देने वाली बातें कर रहे हैं."

'हिलेरी नर्स', 'ट्रंप बेवक़ूफ़' जॉनसन सब बोले

बोरिस जॉनसन की ख़ास तौर पर इसलिए आलोचना हो रही है कि उनकी सास एक सिख महिला हैं.

इसी बात का हवाला देते हुए लोग कह रहे हैं कि वे इतनी मामूली बात नहीं समझते कि गुरुद्वारे में शराब के बारे में बात करना ठीक नहीं है.

बोरिस जॉनसन की पत्नी मरीना व्हीलर हैं जिनके पिता अंग्रेज़ हैं और माँ दीप सिंह हैं जो भारतीय मूल की सिख महिला हैं.

जब उन्हें टोका गया तो उन्होंने अपनी ग़लती ठीक कर ली.

उन्होंने कहा, "मैं माफ़ी चाहता हूँ, मैं अपनी बात रोचक तरीक़े से रखने की कोशिश कर रहा था लेकिन मैं आप लोगों का नज़रिया समझता हूँ और उसकी इज़्ज़त करता हूँ."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे