काटजू के बोल.. पाकिस्तानी मीडिया गरमाया!

  • 20 मई 2017
मार्कण्डेय काटजू इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कण्डेय काटजू की फ़ेसबुक पोस्ट पाकिस्तान के अहम मीडिया संस्थानों में सुर्खियां बटोर रही हैं.

शनिवार को काटजू ने अपनी फ़ेसबुक पोस्ट में कुलभूषण जाधव मामले में भारत के अतरराष्ट्रीय कोर्ट जाने को बड़ी ग़लती करार दिया था.

काटजू की यह पोस्ट पाकिस्तान मीडिया में छा गई. डॉन पाकिस्तान का अहम अख़बार है और उसकी वेबसाइट पर काटजू की ख़बर लीड लगी है.

डॉन ने हेडिंग दी है- नई दिल्ली ने की बड़ी भूल अब पाकिस्तान कश्मीर को लेकर जाएगा अंतरराष्ट्रीय कोर्ट: भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज.

'जाधव को सज़ा पाक संविधान के मुताबिक ही'

हरीश साल्वे- वो वकील जिसने कुलभूषण का मृत्युदंड रुकवाया

कुलभूषण जाधव- ICJ ने भारत की दलील क्यों मानी? अब आगे क्या?

इमेज कॉपीरइट DAWN

जियो टीवी ने भी काटजू की पोस्ट को प्रमुखता से जगह दी है. जियो ने लिखा है कि भारत के सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा कि पाकिस्तान को भारत ने कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय कोर्ट जाने की राह दिखा दी है.

इन ख़बरों पर पाकिस्तानी पाठकों ने भी ख़ूब टिप्पणी की है. हामिद नाम के एक शख़्स ने डॉन की ख़बर पर टिप्पणी की है, ''यह ध्यान देने वाली बात है. अब कश्मीर को भी अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में ले जाना चाहिए.''

एक और शख़्स ने टिप्पणी की है, ''अब बिल्कुल सही वक़्त है कि पाकिस्तान कश्मीर मसले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट लेकर जाए.''

इमेज कॉपीरइट www.geo.tv

डॉन की इस ख़बर पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया में कहा है कि काटजू की बातों में दम है और पाकिस्तान को कश्मीर मसला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में ले जाना चाहिए.

इस ख़बर पर कुछ लोगों ने भारत सरकार के पक्ष में भी टिप्पणी की है. सेंस नाम से किसी ने टिप्पणी की है, ''मिस्टर काटजू आपको यह समझना चाहिए कि हर केस की तुलना जाधव से नहीं कर सकते. सबकी अलग-अलग बुनियाद होती है. आंख बंदकर किसी चीज़ पर बोलने से वह सच नहीं हो जाता है.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

काटजू ने अपनी फ़ेसबुक पोस्ट में लिखा है, ''लोग अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में जाधव मामले में भारत की जीत का जश्न मना रहे हैं, पर मेरी निजी राय है कि भारत ने यहां जाकर बड़ी ग़लती की है. हम पाकिस्तान के हाथों में खेल गए. इसके साथ ही हमने पाकिस्तान को कई मुद्दों पर वहां जाने का रास्ता खोल दिया.''

काटजू ने कहा, ''यहां तक कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के अधिकार क्षेत्र पर गंभीरता से आपत्ति भी नहीं जताई. अब यह तय है कि पाकिस्तान कश्मीर विवाद को भी अंतरराष्ट्रीय कोर्ट लेकर जाएगा. ऐसे में भारत किस मुंह से कहेगा कि यह अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के अधिकार क्षेत्र से बाहर का है. हम दोनो बातें एक साथ नहीं कह सकते हैं.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

काटजू ने कहा, ''हम लोगों के अंतरराष्ट्रीय कोर्ट जाने से पाकिस्तान काफ़ी ख़ुश होगा. हमने किसी एक व्यक्ति के लिए ऐसा किया. अब पाकिस्तान हर मामले को वहां उठाएगा. ख़ासकर वह कश्मीर का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश करेगा जबकि हम इसे हमेशा से द्विपक्षीय मामला कहते रहे हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे