एशिया में पहली बार, एक विवाह ऐसा भी

  • 24 मई 2017
ताइवान इमेज कॉपीरइट AFP

ताइवान की सबसे बड़ी अदालत ने समलैंगिकों की शादी के पक्ष में फैसला सुनाया है.

इसके साथ ही एशिया में कहीं पर समलैंगिकों को शादी की मंजूरी देने का ये पहला मामला है. ताइवान के मौजूदा कानून केवल औरत और मर्द की शादी की इजाजत देते हैं.

लेकिन कोर्ट में इनकी संवैधानिकता को चुनौती दी गई थी जिस पर ये फैसला आया है.

देश में एलजीबीटी समुदाय पर कानूनी कार्रवाई के बढ़ते मामलों के बीच बुधवार को ये अहम फैसला सुनाया गया है.

कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि एक ही लिंग के लोगों की शादी पर मौजूदा प्रतिबंध संविधान के खिलाफ है.

भारतीय मूल का समलैंगिक बन सकता है आयरलैंड का पीएम

जब एक ट्रांसजेंडर मां बने तो क्या होता है?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
एक किन्नर भी बन सकती है मां!

फैसले के बाद संसद को नए कानून के लिए रास्ता बनाना होगा. लेकिन अभी यह तय नहीं है कि संसद इस मामले में कहां तक जाएगी.

ताइवान के समलैंगिक समुदाय को उम्मीद है कि देश की विधायिका शादी के मौजूदा कानून में बदलाव लाकर ऐसा कर सकती है.

अगर ऐसा किया जाता है तो समलैंगिक जोड़ों को भी अन्य जोड़ों की तरह गोद लेने, संपत्ति और दूसरे मामलों में समान अधिकार हासिल होंगे.

जहां सेक्स से होता है समलैंगिकों का इलाज

समलैंगिक होने को ग़लत क्यों माना जाता है

इमेज कॉपीरइट Reuters

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)