'पाकिस्तान में घुसकर कार्रवाई कर सकता है भारत'

भारत इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी खुफिया एजेंसी के प्रमुख ने कांग्रेस को चेतावनी दी है कि भारत पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 'सीमा पार से होने वाले हमलों' का हवाला देकर पाकिस्तान के भीतर आक्रामक कार्रवाई कर सकता है.

उन्होंने कहा है कि परमाणु शक्ति संपन्न दोनों पड़ोसी देशों के बीच सीमा पार से जारी गोलीबारी एक संघर्ष का रूप ले सकता है.

अमरीकी खुफिया एजेंसी के प्रमुख ने यह बात सीनेट सशस्त्र सेवा समिति की सुनवाई के दौरान मंगलवार कही थी.

'डियर पाकिस्तान और भारत, युद्ध ऐसा होता है'

1965 युद्ध: न भारत जीता, न पाकिस्तान हारा

1965: जब पाकिस्तान ने युद्ध के बीच जनरल को हटाया

इमेज कॉपीरइट Getty Images

रिपोर्टों के अनुसार अमरीका में सुरक्षा संबंधी खुफिया एजेंसी के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल विन्सेंट स्टेवार्ट ने कहा कि पिछले साल कथित तौर पर पाकिस्तान से भारत में प्रवेश करने वाले चरमपंथियों के दो हमलों के बाद दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं.

उनके अनुसार संबंध इस साल और ख़राब हो सकते हैं. ख़ासकर भारत में किसी बड़े आतंकवादी हमले के बाद स्थिति बिगड़ सकती है.

भारत का मानना है कि चरमपंथी हमलों की योजना पाकिस्तान से बनती है. भारत हमेशा कहता रहा है कि उसके यहां होने वाले हमलों का संबंध पाकिस्तान से होता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नेशनल इंटेलिजेंस के निदेशक डेनियल आर का कहना है कि 'नियंत्रण रेखा पर ज़बर्दस्त गोलीबारी के साथ तोपखाने और मोर्टार गोले का इस्तेमाल दोनों परमाणु हथियारों से लैस पड़ोसियों के बीच युद्ध की वजह बन सकता है.

'इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अगर सीमा पार हमलों में कमी हो और पठानकोट हमले की जांच में प्रगति होगी तो इसी साल दोनों में बातचीत शुरू हो सकती है. अगर ऐसा होता है तो इससे दोनों देशों के बीच मौजूदा तनाव कम हो सकता है.

लेफ्टिनेंट जनरल विन्सेंट का कहना था: 'भारत ने कोशिश की है कि वह पाकिस्तान को राजनयिक स्तर पर अलग-थलग कर सके. भारत ऐसे किसी विकल्प पर विचार कर रहा है जिसके माध्यम से वह कथित तौर सीमा पार से आतंकवाद की मदद के लिए इस्लामाबाद को क़ीमत चुकाने मजबूर कर सके.'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ये दोनों अधिकारी सीनेट खुफिया ग्रुप 2017 और 18 से संबंधित अपनी रिपोर्ट रख रहे थे.

पिछले कुछ समय से भारत और पाकिस्तान की ओर से एक दूसरे पर एलओसी पर संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन के आरोप लगाने का सिलसिला जारी है.

दो दिन पहले भारतीय सेना ने कहा था कि उसने पाकिस्तान की ओर से नियंत्रण रेखा पर शहरी आबादी को निशाना बनाने पर नोशईरा सेक्टर क्षेत्र में पाकिस्तानी सेना की एक चौकी नष्ट कर दी है. हालांकि पाकिस्तान ने इसे झूठा दावा करार दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे