काबुल के वीआईपी इलाक़े में धमाका, 90 मारे गए

जर्मनी दूतावास, काबुल, german embassy इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जर्मन दूतावास के बाहर का दृश्य.

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में एक आत्मघाती कार बम धमाके में कम से कम 90 लोग मारे गए हैं और कम से कम 350 ज़ख़्मी हुए हैं.

धमाका जर्मन दूतावास के पास हुआ है. इसी इलाक़े में सारे विदेश दूतावास हैं. जब लोग दफ़्तरों के लिए निकल रहे थे तभी यह विस्फोट हुआ.

ऐसा लगा किसी ने दिल दबाकर छोड़ दिया

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जब धमाका हुआ तो धुएं से काबुल के आसमान में अंधेरा छा गया था. धमाके से 100 मीटर के आसापस वाले घरों को ख़ासा नुक़सान पहुंचा है.

काबुल में मारे गए लोगों में बीबीसी के एक ड्राइवर मोहम्मद नज़ीर भी हैं. उनके साथ बीबीसी के उनके चार सहयोगी ही घायल हुए हैं लेकिन वो ख़तरे से बाहर हैं.

तालिबान ने किया इंकार

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अफ़ग़ान तालिबान ने इस हमले को अंजाम देने से इंकार किया है. हालाँकि अल क़ायदा पूर्व में ऐसे हमला करता रहा है.

बीबीसी फ़ारसी के हारून नज़ाफिजदा ने काबुल से बताया कि कई लोग घायल हुए हैं और पूरे इलाक़े को पुलिस ने घेरे रखा है.

हाल के महीनों में काबुल में कई धमाके हुए हैं. इन धमाकों को लेकर पूरे अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा से जुड़ी चिंता और गहरी हो गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस महीने की शुरुआत में एक आत्मघाती हमलावर ने नेटो देशों के एक रक्षा दल पर हमला किया था.

तब यह दल अमरीकी दूतावास से होकर गुजर रहा था. इस हमले में कम से कम आठ लोग मारे गए थे.

सभी भारतीय सुरक्षित

इमेज कॉपीरइट Rakesh Bhat
  • भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि भारतीय दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं.
  • जर्मनी के विदेश मंत्री सिग्मर गैब्रिएल ने कहा है कि जर्मन दूतावास में कई कर्मचारी घायल हुए हैं और एक अफ़गानिस्तानी सुरक्षाकर्मी की मौत हुई है.
  • फ्रांसीसी दूतावास ने कहा है कि उसकी इमारत को नुकसान पहुंचा है लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ है.
  • जापानी दूतावास के दो कर्मचारी घायल हुए हैं.
  • तुर्की ने कहा है कि उसके दूतावास को नुकसान पहुंचा है लेकिन किसी को चोट नहीं लगी है.
  • अफ़ग़ानिस्तान के टोलो न्यूज़ एजेंसी ने ट्वीट कर अपने एक कर्मचारी अज़ीज नवीन की मौत की पुष्टि की है.

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने धमाके की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि 'रमज़ान के पवित्र महीने में निर्दोष नगरिकों को निशाना बनाते हुए किया गया ये हमला कायराना है.'

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जताई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार