पीरियड होने पर 'ह्यूंदै ने ली' मॉडल की नौकरी

इमेज कॉपीरइट PHILIPE ALEXANDER

एक मॉडल ने कार निर्माता कंपनी ह्यूंदै के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज करते हुए दावा दिया है कि उन्हें माहवारी की वजह से नौकरी से निकाल दिया गया.

27 साल की रचेल रिकेर्ट का कहना है कि अप्रैल महीने में न्यूयॉर्क इंटरनेशनल ऑटो शो में ब्रैंड का प्रतिनिधित्व करते वक्त शर्मिंदा किया गया.

उन्होंने कहा कि उस वक्त उन्होंने साफ़ कहा था कि उन्हें टॉयलेट ब्रेक की ज़रूरत है, लेकिन उनसे कहा गया कि ये समय ठीक नहीं है. ऐसे में रचेल समय पर पैड नहीं बदल सकीं.

ह्यूंदै मोटर अमरीका का कहना है कि वो आरोपों की जांच कर रही है.

रचेल का कहना है कि उन्हें अपने अंडरवेयर और कपड़े को बदलने की ज़रूरत थी और उन्होंने टैलेंट प्रतिनिधि एरिका सीफ़्रेड को इस बारे में बताया भी था.

बाद में उन्हें सीफ़्रेड का एक टेक्स्ट मिला जिसमें कहा गया था कि, ''ह्यूंदै चाहती है कि वो रात में ऑफ़ ले ले.''

मॉडल ने बीबीसी को बताया कि उन्होंने इसका ये कहते हुए विरोध किया कि वो रुकना चाहेंगी क्योंकि उन्हें घंटे के हिसाब से पैसे मिलने थे.

अगले दिन वो 14 अप्रैल को वो आम दिन की तरह ही काम पर गईं.

रचेल रिकेर्ट बताती हैं कि 15 अप्रैल को एरिका सीफ़्रेड ने उन्हें बताया कि ह्यूंदै नहीं चाहती कि वो अब शो में काम करें क्योंकि उन्हें उनकी माहवारी के बारे में पता चल गया है.

रचेल ने बीबीसी से कहा,"मैं बहुत हैरान हुई. मैं वाकई बहुत घबरा गई और रोना शुरू कर दिया....ये बिल्कुल ठीक नहीं था."

'ये तो नैचुरल है'

मॉडल ने यूएस इक्वल एम्प्लॉयमेंट अपॉर्च्यूनिटी कमीशन (EEOC) में ह्यूंदै और सीफ़्रेड की मैनेजमेंट कंपनी 'एक्सपीरियंशियल टैलेंट' के ख़िलाफ़ भेदभाव की शिकायत दर्ज कराई है.

सीफ़्रेड ने बीबीसी को बताया कि वो इसपर कोई प्रतिक्रिया नहीं देना चाहतीं.

ऐसी ही 50 शोज़ में हिस्सा ले चुकी मॉडल रचेल ने कहा ह्यूंदै के कथित व्यवहार की वजह से उन्हें शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा.

उन्होंने बीबीसी से कहा, "मैं महिलाओं के साथ लोगों को इस तरह व्यवहार नहीं करने दूंगी. ये बहुत स्वाभाविक बात है कि हमें पीरियड्स होते हैं और ऐसा भी नहीं है कि इसकी वजह से मैं स्पैशल ट्रीटमेंट की मांग करती हूं. मैं बस एक इनसान की तरह इज़्ज़त चाहती हूं और टॉयलेट जाने की सहूलियत चाहती हूं. मैं नहीं चाहती कि बाथरूम इस्तेमाल करने की ज़रूरत के आधार पर मुझे ख़राब कर्मचारी करार दिया जाए."

ह्यूंदै मोटर अमरीका ने बीबीसी से कहा कि उन्हें ईईओसी की तरफ़ से शिकायत की कोई सूचना नहीं मिली है, लेकिन कंपनी जो कुछ हुआ उसकी जांच कर रही है.

कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा, "हम ऐसी किसी भी शिकायत को गंभीरता से लेते हैं और ऐसे किसी भी दावे की जांच की जाएगी और उसपर कार्रवाई की जाएगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे