सोशल: क़तर से नाता तोड़ने पर ख़ुशी, ग़ुस्सा और चिंता भरे ट्वीट

  • 6 जून 2017
इमेज कॉपीरइट TWITTER/@AAMER_ALRASHDI

खाड़ी देशों की ओर से क़तर को कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग किए जाने पर क्षेत्र के सोशल मीडिया यूजर्स जमकर टिप्पणियां कर रहे हैं.

सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और बहरीन समेत अरब देशों ने क़तर पर क्षेत्र में अस्थिरता फैलाने का आरोप लगाते हुए उससे कूटनीतिक रिश्ते तोड़ने का ऐलान कर दिया. इससे बाद 'क़तर से ख़राब होते संबंध' हैशटैग से दस लाख ट्वीट किए गए.

सोशल मीडिया पर इस फ़ैसले के पक्ष और विपक्ष के अलावा हैरत और मज़ाक से भरी बातें भी लिखी गईं. साथ ही अब अलगाव की आशंका से जूझ रहे परिवारों के लिए चिंताएं भी ज़ाहिर की गईं.

एक सऊदी ख़बर संस्थान ने शाह सलमान की यह तस्वीर ट्वीट की, जिसमें वह अपनी घड़ी की ओर देख रहे हैं और इसका यह अर्थ है कि क़तर की मियाद अब पूरी हो गई है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@KSA24

कई सऊदी यूजर्स क़तर से रिश्ते तोड़ने पर बहुत खुश दिखे.

@fdeet_alnssr ने लिखा, 'क़तर के अमीर ने बात नहीं सुनी. उन्हें बात समझ नहीं आई. उन्होंने सबक नहीं सीखा...कि जब इस आदमी (शाह सलमान) को गुस्सा आता है तो देश और उनके शासक कांपने लगते हैं.'

पढ़ें: क़तर-अरब देशों के विवाद में भारत किधर?

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@FDEET_ALNSSR

यूएई में दुबई सरकार के मीडिया कार्यालय की मुखिया मोना-अल-मारी ने ट्वीट किया, 'काश क़तर थोड़ा बुद्धिमान होता. काश क़तर के विदेश मंत्री बेवक़ूफाना निजी प्रतिक्रिया करके ज़िद्दी रुख़ दिखाने के बजाय माफ़ी मांग लेते.'

लेकिन सऊदी के कुछ लोगों ने ये भी लिखा कि क़तर की नीतियों के ख़िलाफ़ गुस्सा क़तर के लोगों के ख़िलाफ नहीं जाना चाहिए.

यासिर अल-शोमरी ने लिखा, 'मैं दो बार क़तर गया हूं. अल्लाह गवाह है कि क़तर के लोगों ने मुझे सब कुछ दिया. उनके राज्य की नीतियां अलग हैं, लेकिन इससे इन दरियादिल लोगों का नुकसान हो रहा है.'

पढ़ें: छह मुस्लिम बहुल देशों ने क़तर से तोड़े संबंध

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@IIYASERSH

वहीं क़तर के लोगों ने अपने मुल्क के अमीर तमीम बिन हमद अल थानी के समर्थन में 'हम सब तमीम हैं' हैशटैग चलाया और अपनी प्रोफाइल तस्वीरें भी उनकी लगा लीं.

'क़तर से रिश्ते ख़राब करने के ख़िलाफ खाड़ी के नागरिक' हैशटैग भी ख़ासा चला.

इसके साथ @muhmad251990 ने लिखा, 'काश ये तीनों देश (सऊदी अरब, यूएई और बहरीन) इसरायल या ईरान का बहिष्कार करने में ऐसी एकता दिखाते, जैसी ये क़तर के संबंध में दिखा रहे हैं.'

कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने मज़ाकिया चीज़ें भी लिखीं. यूसुफ़ बिन मोहम्मद ने ओमान देश को- जो आम तौर पर खाड़ी के विवादों से अलग रहा है- एक ऐसे आदमी के तौर पर दिखाया जिसके आस-पास लोग भाग-दौड़ कर रहे हैं, पर वह आराम कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@Y_0787

हालांकि इस बारे में चिंताएं भी ज़ाहिर की गईं कि क़तर और बाक़ी खाड़ी देशों के बीच सरहद बंद होने का असर कई परिवारों पर पड़ सकता है.

सऊदी अरब, यूएई और बहरीन ने क़तर के सभी नागरिकों को अपने देश लौटने के लिए दो हफ़्ते का समय दिया है. तीनों देशों ने अपने यहां से क़तर यात्रा पर भी प्रतिबंध लगा दिया है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@TMATHIR

सऊदी प्रशासन के एक अनुमान के मुताबिक, उस तरफ़ शादी की वजह से करीब 18 हज़ार सऊदीवासी क़तर में रहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे