ऑस्ट्रेलिया में अडानी के विवादास्पद प्रोजेक्ट को हरी झंडी

  • 6 जून 2017
कोयला खदान परियोजना इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऑस्ट्रेलिया में अडानी की विवादास्पद कोल माइंस प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिल गई है.

कंपनी के चेयरमैन गौतम अडानी ने बताया, "ये फैसला क्वींसलैंड में 12.3 अरब डॉलर की हमारी कोयला खदान परियोजना की आधिकारिक शुरुआत है."

उन्होंने बताया कि खदान परियोजना के शुरुआती काम इस साल के आखिर में शुरू हो जाने की संभावना है.

ऑस्ट्रेलियाई सरकार का कहना है कि इस परियोजना से निवेश बढ़ेगा लेकिन प्रोजेक्ट के आलोचकों का दावा है कि इससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचेगा.

गौतम अडानी ने ये एक बयान में कहा, "हमें एक्टिविस्ट लोगों ने कोर्ट में, शहरों की सड़कों पर और यहां तक कि बैंक के बाहर चुनौती दी. हम अब भी आंदोलनकारियों की चुनौती का सामना कर रहे हैं. लेकिन हम इस परियोजना को लेकर प्रतिबद्ध हैं."

गौतम अडानीः अच्छे दिनों वाला उद्योगपति!

अडानी को कर्ज़ पर एसबीआई का स्पष्टीकरण

इमेज कॉपीरइट SAM PANTHAKY/AFP/Getty Images

सरकारी मंजूरी

अडानी का ये कोल प्रोजेक्ट 250 वर्ग किलोमीटर में फैला है. कंपनी ने इस वित्तीय मंजूरी को परियोजना के लिए 'हरी झंडी' बतलाया है.

पिछले हफ्ते अडानी और क्वींसलैंड की राज्य सरकार के बीच एक समझौता हुआ था. इस समझौते के बाद ही मंगलवार को कंपनी के पक्ष में फैसले आया.

क्वींसलैंड के प्रीमियर अन्नासटासिया पलासजुक ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इस परियोजना से नौकरी के अवसर बढ़ेंगे.

केंद्रीय संसाधन मंत्री मैट कनावन का कहना था कि अदालती कार्रवाई और सरकारी मंजूरी के कारण इस परियोजना में देरी हुई. उन्होंने कहा, "यह किसी भारतीय कंपनी का ऑस्ट्रेलिया में अब तक का सबसे बड़ा निवेश है."

दूसरी तरफ परियोजना के आलोचका का दावा है कि इससे ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बढ़ेगा और ग्रेट बैरियर रीफ को नुकसान पहुंच सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे