क़तर के विमानों पर प्रतिबंध शुरू, भारतीय उड़ानों पर असर नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

क़तर से कूटनीतिक ख़त्म करने के बाद मिस्र और सऊदी अरब ने क़तर के विमानों पर अपने हवाई क्षेत्र में उड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

मिस्र ने क़तर के विमानों के लिए अपनी वायुसीमा को बंद कर दिया है वहीं सउदी अरब और बहरीन भी मंगलवार से क़तर के विमानों पर रोक शुरू कर सकते हैं.

सउदी अरब, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात समेत यमन और मालदीव ने क़तर पर खाड़ी क्षेत्र में चरमपंथ फैलाने का आरोप लगाते हुए कूटनीतिक संबंध ख़त्म कर दिए हैं.

क़तर की राजधानी दोहा का हवाई अड्डा अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बदलने का एक प्रमुख बिंदु है और इस रोक से कई यात्रियों की परेशानी बढ़ने का अंदेशा है.

अब 'अरब के आसमान' में भी नहीं उड़ेंगे क़तर के विमान

सोशल: क़तर से नाता तोड़ने पर ख़ुशी, ग़ुस्सा और चिंता भरे ट्वीट

क़तर के विमानों के लिए मिस्र और सउदी अरब के आसमान में प्रवेश पर पाबंदी से क़तर एयरवेज़, एतिहाद और एमिरेट्स एयरलाइन्स की उड़ानें प्रभावित होंगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वहीं समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ जेट एयरवेज़ और इंडिगो एयरलाइन्स ने बताया कि दोहा आने और जाने वाली उड़ानें समय के अनुसार चल रही हैं.

क़तर की सरकारी क़तर एयरलाइन्स पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद जेट एयरवेज़, इंडिगो और एयर इंडिया की दोहा जाने वाली उड़ानों पर कोई असर नहीं होगा.

जेट एयरवेज़ यूएई स्थित एतिहाद एयरवेज़ का सहयोगी है लेकिन जेट एयरवेज़ ने कहा है कि दोहा आने-जाने वाली उड़ानें सुचारू रूप से चलती रहेंगी.

इंडिगो ने भी कहा है कि दोहा जाने वाली उसकी उड़ानें समय से चलती रहेंगी और अगर कोई बदलाव होगा तो यात्रियों को जानकारी दे दी जाएगी.

वो 4 कारण जिससे अरब देशों ने क़तर से संबंध तोड़े

क़तर-अरब देशों के विवाद में भारत किधर?

रिपोर्टों के मुताबिक यूएई ने विदेशी एयरलाइन कंपनियों से कहा है कि क़तर जाने वाली उड़ानों के लिए यूएई के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने के लिए अनुमित लें.

वहीं पड़ोसी देश सउदी अरब से प्रवेश पर रोक से क़तर के विमानों को लंबे रूट पर उड़ान भरनी होगी जिससे गंतव्य तक पहुंचने में यात्रियों को ज़्यादा समय लगेगा.

लेकिन क़तर के विदेश मंत्री शेख मोहम्मद बिन अब्दुलरहमान अल थानी ने अल जज़ीरा से कहा कि क़तर से अंतरराष्ट्रीय समुद्री रास्तों और हवाई क्षेत्र से दुनिया के कई देशों तक पहुंच जा सकता है.

सोमालिया के अधिकारियों ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि क़तर एयरवेज़ के कम-से-कम 15 विमानों ने सोमवार को सोमालिया के वायु क्षेत्र का इस्तेमाल किया, जो किसी सामान्य दिन से ज़्यादा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे