चीन: कैसे लगेगी परीक्षा में नकलचियों पर लगाम

  • 7 जून 2017
चीन में परीक्षा इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption चीन में परीक्षा से पहले छात्रों की बायोमेट्रिक पहचान सुनिश्चित करते एक शिक्षक

इस हफ्ते चीन में बड़ी तादाद में स्कूली बच्चे परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं. चीन में इस परीक्षा को 'गाओकाओ' कहा जाता है.

दो दिनों में पूरी होने वाली 'गाओकाओ' परीक्षा के लिए बच्चों को नौ घंटे की मोहलत पास रहती है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ये एक इयरफोन है जिसका इस्तेमाल परीक्षा में नकल के लिए किया जाता है, ऐसे कई टूल्स हाल के सालों में परीक्षा के दौरान जब्त किए गए हैं

परीक्षा की अहमियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसके नतीजे के आधार पर ही चीन के कॉलेजों में बच्चों को दाखिला मिलता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 6 जून को चीन के ताइयुआन में मीडिया के सामने एक प्रेजेंटेशन रखा गया, जहां ऐसी मशीनें पेश की गईं (तस्वीर में बेल्ट में छुपा एक वायरेस डिवाइस)

इसी इत्मेहान से चीनी बच्चों के करियर की पूरी दशा और दिशा तय होती है. ये तय है कि बड़ी तादाद में बच्चे ये परीक्षा नहीं पास कर पाएंगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption घड़ी की तरह दिखने वाला एक वायरेस डिवाइस, बच्चे परीक्षा में नकल के लिए क्या-क्या नहीं करते

यही कारण है कि यहां परीक्षा में नकल का चलन देखा जाता है. परीक्षा में नकल की रोकथाम के लिए सुरक्षा इंतज़ाम भी पुख्ता रखे गए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption परीक्षा आयोजित करने वाली टीम की एक मेंबर एग्जामिनेशन हॉल की वायरेस गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए मुस्तैद

मेटल डिटेक्टर, ड्रोन से लेकर बायोमेट्रिक पहचान का इंतजाम. आप अंदाजा लगा सकते हैं कि नकल की आशंका किस स्तर तक रहती होगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ये वो डिवाइस हैं जो इरेज़र की तरह लगती हैं लेकिन इनका इस्तेमाल नकल करने के लिए होने वाला था

इसके बावजूद भी नकलची बच्चों और परीक्षकों के बीच आंख-मिचौली का खेल जारी है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इयरफोन को मैसेज देने वाला डिवाइस

ग्वांग्जो में अधिकारी चेहरे की पहचान करने वाले मशीनों का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि कोई और छात्र किसी दूसरे छात्र के बदले परीक्षा में शामिल न हो जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे