ईरान संसद हमला: 12 लोगों की मौत

  • 7 जून 2017
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
तेहरान में संसद के भीतर और धार्मिक नेता अयातुल्लाह ख़ुमैनी की मज़ार पर गोलीबारी हुई है.

ईरान की राजधानी तेहरान में संसद के भीतर और ईरान के पूर्व धार्मिक नेता अयातुल्लाह ख़ुमैनी की मज़ार पर हुई गोलीबारी में 12 लोगों की मौत हो गई है.

मुख्य बातें:

  • स्थानीय प्रशासन ने कहा है कि इस हमले में तीन महिलाएं और एक पुरुष हमलावर शामिल था. इनमें से कुछ को सुरक्षाबलों ने ज़िंदा गिरफ़्तार किया है.
  • दोनों हमलों को मिलाकर करीब दर्जन भर लोग घायल भी हुए हैं.
  • स्थानीय प्रशासन ने संसद के भीतर लोगों को बंदी बनाए जाने की ख़बर का खंडन किया है.
  • इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.
  • हमले के दौरान सभी सांसद ईरानी संसद के भीतर ही मौजूद थे.
इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption ईरानी संसद का मेन हॉल

संसद परिसर में गोलीबारी की ख़बर के साथ इस हमले के शुरुआती अपडेट आए थे, लेकिन कुछ ही मिनटों के बाद यह साफ़ हो गया था कि यह ईरानी संसद पर एक सुनियोजित हमला है.

इमेज कॉपीरइट EPA

तस्मीन न्यूज़ ने ईरानी संसद भवन की खिड़की से बाहर की तरफ गोलियां चलाते एक व्यक्ति की तस्वीर जारी की थी.

इमेज कॉपीरइट EPA

IRNA न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक़, अयातुल्लाह ख़ुमैनी की मज़ार के बाहर एक बैंक के सामने एक हमलावर ने खुद को बम से उड़ा लिया.

ईरान की ही लेबर न्यूज़ एजेंसी का कहना है कि दो हमलावरों को गिरफ्तार किया गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ईरानी संसद की एक फ़ाइल तस्वीर

इस हमले में एक सिक्योरिटी गार्ड की भी मौत हुई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

'IS ने फ़रवरी-मार्च में कही थी हमले की बात'

कथित चरपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट इसी साल कई बार ईरान के भीतर हमला करने की बात कह चुका था.

फ़रवरी और मार्च में इस्लामिक स्टेट के साप्ताहिक अरबी अख़बार अल-नाबा ने अपने पहले पन्ने पर संपादकीय लिखे थे, जिनमें ईरान के अल्पसंख्यक सुन्नी मुसलमानों को ईरानी सरकार के ख़िलाफ़ विद्रोह करने के लिए उकसाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार