कोई हैकिंग नहीं, फिर भी बैंकों से ग़ायब हुए पैसे

इमेज कॉपीरइट Reuters

फिलीपिंस में लोगों के अकाउंट से पैसे ग़ायब होना चर्चा का विषय बना हुआ है.

बैंक ऑफ़ फिलीपिंस का कहना है कि बैंकिग व्यवस्था में एक बड़ी खराबी के कारण लोगों के बैंक अकाउंट से अनाधिकृत तरीके से पैसे निकाले या जमा किए गए है.

बैंकों में बड़ी संख्या में लेनदेन होने की ख़बरें हैं. कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर दावा किया है कि उनके बैंक अकाउंट लगभग शून्य तक पहुंच गए हैं.

बैंक ऑफ़ फिलीपिंस (बीपीआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीज़ार कुंसिंग ने बुधवार सुबह एस स्थानीय टेलीविज़न चैनल पर इसके लिए माफ़ी मांगी.

उन्होंने कहा, "कोई हैकिंग नहीं हुई, ये एक अंदरूनी समस्या है."

उन्होंने एएनसी से कहा, "हम अगले कुछ घंटों में पैसे दोबारा जमा कर दिए और जो पैसे काट लिए गए हैं, वो ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं."

बैंक खाताधारकों ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि उन्होंने चार हज़ार से एक लाख पेसो तक खो दिए हैं.

ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक बयान में बीपीआई ने कहा कि कुछ लोगों को दिखा होगा कि कुछ लोगों के खाते से दो बार पैसे कट गए हैं और कुछ के अकाउंट में दो बार पैसे जमा हो गए हैं.

बीपीआई ने कहा है कि हालात काबू में आने तक इलेक्ट्रॉनिक बैंकिग सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

हालांकि इसके बाद बैंक के कई ग्राहकों ने कहा कि वो अपने खाते पर बैलेंस भी चेक नहीं कर पा रहे हैं और वो जान नहीं पा रहे कि वो प्रभावित हैं भी या नहीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बैंक की सालाना रिपोर्ट के अनुसार के अनुसार देश में उनके 80 लाख ग्राहक हैं और साल 2016 के आख़िर तक बैंक में 14 खरब पेसो जमा थे.

मनीला स्थित स्टॉक मार्केट में गुरुवार सुबह बीपीआई के शेयर में 2 फीसद की गिरावट दर्ज की गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे