तनमनजीत सिंह बने ब्रिटेन के पहले पगड़ीधारी सिख सांसद

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तनमनजीत सिंह ब्रितानी चुनाव में जीतने वाले पहले पगड़ीधारी सिख बन गए हैं.

उन्होंने स्लाओ इलाके से लेबर पार्टी की ओर से चुनाव जीता.

ब्रिटेन चुनावः रिकॉर्ड संख्या में जीते भारतीय मूल के उम्मीदवार

प्रीत गिल बनीं ब्रिटेन की पहली महिला सिख सांसद

उनके परिवार की जड़ें पंजाब के जालंधर से हैं. उनका परिवार फ़गवाड़ा में रहता था और उनका ताल्लुक जालंधर के रायपुर गांव से है.

जीत के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में अपने फ़ेसबुक पेज पर उन्होंने कहा, 'मैं अपने सभी वोटरों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझपर विश्वास किया और ये संभव बनाया.'

फ़ेसबुक पर चुनाव से जुड़े एक वीडियो में लंदन के मेयर सादिक खान ने उनके समर्थन में बातें कहीं थीं.

कैंब्रिज से की पढ़ाई

रिपोर्टों के मुताबिक उन्होंने अपनी शुरुआती स्कूलिंग जालंधर से की और बाद में ब्रिटेन के तीन सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन, ऑक्सफोर्ड के केबल कॉलेज और कैंब्रिजविश्वविद्यालय में पढ़ाई की.

ब्रिटेन में त्रिशंकु संसद, उल्टा पड़ा मध्यावधि चुनाव का दाँव

ब्रिटेन में त्रिशंकु संसद, आगे क्या होगा?

उनके पिता जसपाल सिंह धेसी ब्रिटेन में एक भवन निर्माण कंपनी चलाते हैं और साथ ही वो ग्रेवसेंड के सबसे बड़े गुरुद्वारा गुरुनानक दरबार के अध्यक्ष हैं.

2015 के संसदीय चुनाव में धेसी ने ग्रेव्सहैम सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन वो हार गए थे.

मई 2011 में वो ग्रेव्सहैम से मेयर चुने गए. उस वक्त यूरोप में चुने गए सबसे कम उम्र के सिख थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)