इथियोपिया में जुलाई से खाने को मोहताज होंगे 78 लाख लोग

इमेज कॉपीरइट AFP

संयुक्त राष्ट्र संघ ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि जून महीने के खत्म होने के साथ ही इथियोपिया को 78 लाख लोगों के लिए उपलब्ध कराई गई आपातकालीन खाद्य मदद खत्म हो जाएगी.

संयुक्त राष्ट्र संघ की एजेंसी वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के जॉन आयलिफ़ ने कहा, "हमारा खाने-पीने का सामान जून महीने में खत्म होने जा रहा है, इसका मतलब ये है कि 78 लाख लोगों को अचानक से खाना मिलना बंद हो जाएगा."

धरती पर वो जगहें, जहाँ सामने दिखती है मौत

'सेव द चिल्ड्रन' संस्था से जुड़े जॉन ग्राहम ने कहा, "जब खाना खत्म हो जाएगा तो हमें नहीं पता कि क्या होगा. खाने की बुनियादी चीज़ों के बिना ख़तरनाक कुपोषण की समस्या सामने आएगी, क्योंकि लोगों को खाने के लिए कुछ नहीं मिल रहा होगा. ये बच्चे गंभीर कुपोषण के शिकार हो जाएंगे जो बेहद खतरनाक स्थिति होगी."

सरकार मांग रही है मदद

इमेज कॉपीरइट AFP

इथियोपिया की सरकार और कई अन्य स्थानीय संगठनों ने दुनिया के तमाम दानदाताओं से मदद मांगी है, लेकिन वे अनसुने कर दिए जाने की आशंका से डरे हुए हैं क्योंकि दुनिया में तमाम जगह मानवता का संकट पैदा हो रहा है.

संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर-पूर्वी नाइजीरिया, दक्षिणी सूडान, यमन और सोमालिया में चल रहे अकाल को 1945 के बाद दुनिया का सबसे बड़ा मानवीय संकट कहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

हाल के सालों में इथियोपिया की सरकार ने सूखे से निपटने में सफलता पाई है लेकिन अभी तक सरकार के पास अपने दम पर सूखे से निपटने के लिए पर्याप्त धन नहीं है.

बीते दो सालों में सरकार ने 381 मिलियन डॉलर की राशि सूखे से निपटने के लिए आवंटित की थी लेकिन अब तक सूखे का संकट बना हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)