जब गिल्लियों के बिना खेला गया अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गली क्रिकेट में स्टंप भी न हो तो आम बात है. लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का मैच बिना गिल्लियों (बेल्स) के हो तो आप क्या कहेंगे!

मौसम की मार कुछ भी करवा सकती है. 9 जून 2017 को वेस्टइंडीज बनाम अफ़ग़ानिस्तान के मुक़ाबले में एक समय हवा इतनी ज़ोर से चली कि गिल्लियों का स्टंप पर टिकना नामुमकिन हो गया. तब बिना बेल्स के ही मैच आगे बढ़ाया गया.

वेस्टइंडीज के ग्रॉस आइलेट मैदान पर हुए इस मैच में अफ़ग़ानिस्तान की पारी का यह 20वां ओवर था.

वेस्टइंडीज़ के नौजवान तेज़ गेंदबाज़ अलज़ारी जोसेफ गेंद फेंक रहे थे. तभी हवा से विकेट की गिल्लियां गिर गईं. अंपायर ने बिना गिल्लियों के मैच जारी रखने को कहा. जोसेफ़ जब 20वें ओवर की दूसरी गेंद फेंकने दौड़े, तब दोनों तरफ़ के विकेट पर गिल्लियां नहीं थीं.

इमेज कॉपीरइट Twitter/@fomaramteke

क्रिकेट के नियमों के मुताबिक, अंपायर की इज़ाजत और दोनों कप्तानों की सहमति के बाद ऐसा किया जा सकता है.

हालांकि गिल्लियों के गिरने से ही तय किया जाता है कि बल्लेबाज़ आउट है या नहीं. ऐसे उदाहरण भी देखने में आए हैं, जब गेंद धीमे से विकेट पर लगी, लेकिन गिल्लियां नहीं गिरीं. ऐसे मौक़ों पर बल्लेबाज़ को आउट नहीं दिया गया और गेंदबाज़ मन मसोसकर रह गया.

बहरहाल, इस मैच में अफ़ग़ानिस्तान ने बड़ा उलटफ़ेर करते हुए कभी विश्व चैंपियन रही वेस्टइंडीज़ की टीम को 63 रनों से हरा दिया. आईपीएल में अपने प्रदर्शन से सुर्ख़िया बटोरने वाले लेग स्पिनर राशिद ख़ान ने 2.07 के औसत से रन देते हुए 7 विकेट चटकाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे