ट्रंप का फ़ोन नहीं उठाया इसलिए मुझे हटाया: प्रीत भरारा

  • 12 जून 2017
प्रीत भरारा इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका के पूर्व सरकारी वकील प्रीत भरारा ने दावा किया है कि अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप का फ़ोन नहीं उठाने की वजह से उन्हें नौकरी से निलंबित कर दिया गया.

एबीसी न्यूज़ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि ट्रंप ने सरकार और स्वतंत्र अपराध जांचकर्ताओं के बीच ज़रूरी बनाई रखने वाली दूरी को लांघ दिया है.

व्हाइट हाउस ने अब तक इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

ट्रंप से भिड़ने वाले कौन हैं प्रीत भरारा?

ओबामा प्रशासन में अमरीका के मुख्य सरकारी फेडरल वकील रहे भरारा ने कहा है कि ऐसा लगता है कि बीते साल 2016 में मुलाकात के बाद ट्रंप उनसे एक तरह का संबंध बनाने की कोशिश कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अमरीका के पूर्व सरकारी वकील प्रीत भरारा

उन्होंने कहा है कि उन्हें लगा कि राष्ट्रपति बनने के बाद उनसे इस तरह का संबंध अनुचित होगा.

ओबामा ने कभी नहीं फ़ोन किया

भरारा कहते हैं, "ओबामा ने साढ़े सात सालों के दौरान एक बार भी फ़ोन नहीं किया. राष्ट्रपति को मुझे कभी फ़ोन नहीं करना चाहिए क्योंकि दोनों पदों पर आसीन लोगों के बीच अधिकार क्षेत्र की वजह से एक दूरी बनी रहनी चाहिए.

कोमी- ट्रंप ने एफ़बीआई के बारे में 'झूठ' कहा

ट्रंप ने रूस से कहा, 'कोमी को हटाने से दबाव घटा'

ये इंटरव्यू एफ़बीआई के पूर्व प्रमुख जेम्स कोमी के अमरीकी सीनेट के सामने राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हाथ होने की जांच के संबंध में गवाही के दौरान आया.

कोमी कह चुके हैं कि अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने एक बार उन्हें उनके प्रति ईमानदार रहने को कहा था.

'ट्रंप ने एफ़बीआई को फ़्लिन की जांच रोकने को कहा'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पूर्व एफबीआई चीफ जेम्स कॉमी

राष्ट्रपति ने इस आरोप को पूरी तरह निराधार बताते हुए भरारा के पूर्व सहयोगी जेम्स कोमी के निजी बातचीत के सार्वजनिक करने की हरकत को कायर हरकत क़रार दिया है.

कौन हैं प्रीत भरारा?

भारत में प्रीत भरारा का नाम कम ही लोगों ने सुना होगा लेकिन अमरीकियों के लिए वो एक जाने-पहचाने चेहरे हैं.

भरारा के माता-पिता पंजाब के फिरोज़पुर ज़िले के हैं और जब भरारा केवल दो साल के थे तो वो अमरीका चले गए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption भरारा को सख़्त छवि वाला सरकारी अधिकारी माना जाता रहा है

भरारा ने भी राष्ट्रपति ओबामा की तरह कोलंबिया लॉ स्कूल और हार्वर्ड से क़ानून की पढ़ाई की है.

भारतीय मूल के प्रीत भरारा के ज़िम्मे अक्सर हाई प्रोफ़ाइल भारतीयों और दक्षिण एशियाई लोगों के ही मामले आए.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रजत गुप्ता, अमरीकी वित्तीय दुनिया की जानी मानी हस्ती

इनमें रजत गुप्ता का वित्तीय धोखाधड़ी का मामला, पाक चरमपंथियों और सूरीनाम के राष्ट्रपति के बेटे जैसे मामले शामिल हैं.

पाकिस्तानी चरमपंथियों ख़ालिद शेख़ मोहम्मद और फ़ैसल शहज़ाद के मामले भी प्रीत भरारा ने सरकारी वकील की भूमिका नभाई और सबकी वाहवाही लूटी.

टाइम मैगज़ीन उन्हें दुनिया के 100 सबसे शक्तिशाली हस्तियों में शामिल कर चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे