तस्वीरें: लंदन की भीषण आग से तबाही

  • 14 जून 2017
इमेज कॉपीरइट AFP

पश्चिमी लंदन के लाटिमर रोड पर स्थित एक रिहाइशी टावर ब्लॉक में भीषण आग लग जाने से सबकुछ लगभग तहस नहस हो चुका है.

यह इमारत 24 मंजिला है जिसमें आग लगने के वक़्त क़रीब 600 लोग मौजूद थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अधिकारियों के अनुसार, बहुत सारे लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है, लेकिन कई लोगों के मरने की आशंका है.

हालांकि हताहतों की संख्या की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह इमारत पुरानी थी और पिछले साल ही इसकी मरम्मत का काम पूरा किया गया था. उस समय फ़ायर सेफ़्टी को लेकर निवासियों ने शिकायत की थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

स्थानीय समयानुसार, रात में क़रीब सवा एक बजे लगी आग को बुझाने के लिए दमकल की 40 गाड़ियां और 200 दमकलकर्मी लगाए गए थे.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आग पूरी इमारत में फैल गई थी और छतों पर लोग टॉर्च और मोबाइल फ़ोन की रोशनी कर मदद की गुहार लगा रहे थे.

इमेज कॉपीरइट AFP

लंदन फ़ायर ब्रिगेड सर्विस के अनुसार, क़रीब 30 लोगों को पांच अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, कुछ लोगों को खिड़कियों से बाहर निकलने की कोशिश करते भी देखा गया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान ने ग्रेनफ़ेल टावर में आग लगने को बड़ी दुर्घटना बताया है.

स्थानीय लोगों ने बताया कि इमारत से गिरने वाले लोगों की उन्होंने चीखें सुनी थीं.

इमेज कॉपीरइट EPA

आग लगने के कई घंटे बाद अभी भी कई मंजिलों पर आग बुझी नहीं है और इमारत के गिरने का ख़तरा पैदा हो गया है.

दमकल विभाग की हाइड्रॉलिक गाड़ियां केवल 10 मंजिल तक ही पानी की बौछार कर पा रही थीं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमेजिंग स्पेसेज़ के प्रेजेंटर जॉर्ज क्लार्क ने रेडियो 5 लाइव को बताया, "मैं इमारत से 100 मीटर दूर हूं, लेकिन राख से पूरी तरह ढक गया हूं."

जब आग अपने पूरे जोरों पर थी तो उसे कई मील तक देखा जा सकता था.

इमेज कॉपीरइट EPA

इस इमारत में कुल 120 फ़्लैट थे. मैट्रोपॉलिटन पुलिस ने पीड़ितों के परिजनों के लिए इमरजेंसी हेल्पलाइन जारी किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे