लंदन फ़ायर: अब तक जो बातें हमें पता हैं

इमेज कॉपीरइट Shutterstock

ब्रिटेन के ग्रेनफ़ेल टावर में बीते मंगलवार की आधी रात को लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो चुकी है जबकि बहुत से लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं.

हालांकि अधिकारियों ने कहा है कि अब इमारत से किसी के ज़िंदा मिलने की उम्मीद लगभग समाप्त हो चुकी है.

अस्पताल में अभी भी 30 लोगों का इलाज चल रहा है जिनमें 17 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है.

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने घटना स्थल पर दौरा किया और घटना के जांच के आदेश दिए हैं.

ग्रेनफ़ेल टावर की भीषण आगजनी के बारे में जो हम जानते हैं-

  • ग्रेनफ़ेल टॉवर वेस्ट लंदन के लैटिमर रोड पर स्थित है. यह 1000 घरों वाले लैंकास्टर वेस्ट एस्टेट हाउसिंग कॉम्प्लैक्स का हिस्सा है.
  • ग्रेनफ़ेल टावर को 1974 में बनाया गया था. पिछले साल मई में 86 लाख पाउंड के ख़र्च से इसकी मरम्मत की गई थी.
  • चौबीस माले के इस टावर में 127 फ़्लैट थे. टावर की मंज़िलें रिहाइशी थीं, जबकि सबसे नीचे की चार मंज़िलों पर रिहाइशी फ़्लैट्स के अलावा कम्युनिटी आदि थे.
  • मरम्मत से पहले और मरम्मत के दौरान ग्रेनफ़ेल एक्शन ग्रुप ने दावा किया था कि आग का ख़तरा हो सकता है. निवासियों ने भी इमरजेंसी गाड़ियों के पहुंचने में बाधा की शिकायत की थी.
  • फ़रवरी 2013 में निवासियों ने फ़ायर सेफ्टी उपकरणों के बारे में शिकायत की थी, जिनकी 12 महीने से मरम्मत नहीं हुई थी.
  • पिछले साल लंदन फ़ायर ब्रिगेड ने टावर को आग के ख़तरे को लेकर औसत रेटिंग दी थी.
  • टावर के सुरक्षा निर्देशों में कहा गया था कि लोग तब तक अपने घर के अंदर ही रहें जबतक उनके फ़्लैट तक आग न पहुंचे.
  • जब आधी रात को आग लगी तो अधिकांश लोग सो रहे थे. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जलती हुई इमारत में फ़ंसे हुए लोग मदद की गुहार लगा रहे थे.
  • कुछ लोगों ने बताया कि मदद के लिए टावर के सबसे ऊपर टॉर्च और मोबाइल फ़ोन से लोग रोशनी कर रहे थे.
  • फ़्लैटों में फंसे लोग खिड़कियों से बाहर अपने बच्चों को निकाले हुए थे.
Image caption ग्रेनफ़ेल टावर की चेतावनी
  • यह आग चौथी मंज़िल पर लगी थी. बचे हुए लोगों ने बताया कि फ़ायर अलार्म ने काम नहीं किया, पड़ोसियों ने उन्हें चेतावनी दी थी.
  • मौके पर मौजूद बीबीसी के एंडी मूर ने बताया कि आग के कारण मलबा ऊपर से गिर रहा था. धमाके हो रहे थे और कांच के टूटने और चटखने की आवाज़ें आ रही थीं.
  • स्थानीय चर्च, फ़ुटबॉल क्लब और अन्य संस्थाएं पीड़ितों की मदद के लिए खाना, कपड़े और अन्य ज़रूरी सामान मुहैया करा रहे हैं.
  • क्राउड फंडिंग के ज़रिये लोगों ने 1.7 लाख पाउंड इकट्ठा किए हैं.
  • अभी भी लोगों को घटना स्थल से दूर रहने को कहा जा रहा है और कई रास्तों को बंद रखा गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे