अमरीकी पिता का दावा, उत्तर कोरिया ने बेटे पर किए जुल्म

  • 16 जून 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption उत्तर कोरिया की यात्रा पर जाने वाले आटो वांबियर

उत्तर कोरिया ने हाल ही में एक अमरीकी छात्र आटो वांबियर को कोमा की स्थिति में रिहा किया है.

उत्तर कोरिया सरकार ने 22 वर्षीय छात्र की हालत के लिए बोट्युलिज़्म और एक नींद की गोली को जिम्मेदार ठहराया है.

उत्तर कोरिया जहाँ कैदी खोदते हैं ख़ुद की क़ब्र

लेकिन इस छात्र के पिता फ्रेड वांबियर ने इस बात को न मानते हुए कहा है कि उनके बेटे के साथ जुल्म किए गए हैं.

अस्पताल ने कहा - छात्र को गंभीर दिमागी चोटें

वांबियर के साथ ही अमरीकी प्रांत ओहियो के एक अस्पताल ने कहा है कि ओट्टो को गंभीर दिमागी चोटें आई हैं और अब वह सामान्य स्थिति में हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption आटो वांबियर

गुरुवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान वांबियर ने कहा, "15 महीनों तक हमें अपने बेटे या उससे जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली, अभी सिर्फ एक हफ्ते पहले उत्तर कोरिया की सरकार दावा करती है कि वह इस पूरे वक़्त कोमा में था.

नहीं मंज़ूर उत्तर कोरिया की सफाई

फ्रेड कहते हैं, "हम बोट्युलिज़्म और नींद की गोली की वजह से कोमा की बात नहीं मानते हैं, लेकिन अगर आप मान भी लेतें हैं तो एक सभ्य देश ऐसी जानकारी नहीं देने और पीड़ित को बेहतर मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने के लिए कोई बहाना नहीं बना सकता."

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption आटो वांबियर के पिता फ्रेड वांबियर

वर्जिनिया विश्वविद्यालय के 21 वर्षीय वांबियर को जनवरी में उत्तर कोरिया का दौरा करते समय एक होटल से प्रचार चिन्ह की चोरी करने की कोशिश के लिए गिरफ्तार किया गया था.

बाद में सरकारी टीवी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि एक चर्च समूह ने उनसे यात्रा की निशानी लाने को कहा था. उन्होंने कहा कि यह मेरी ज़िंदगी की बड़ी भूल थी.

ओबामा प्रशासन पर निशाना

फ्रेड ने ओबामा प्रशासन की आलोचना करते हुए कहा, "जब आटो को कैद किया गया था तो पिछले प्रशासन ने उनसे इस मामले को खबरों से दूर रखने को कहा था, हमने ऐसा ही किया लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला, इसके बाद हमने इस साल फैसला किया कि शांत रहने का समय ख़त्म हो गया है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे