काबुल की शिया मस्जिद में धमाका, चार की मौत

इमेज कॉपीरइट Reuters

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल के शिया बहुल इलाके में स्थित एक मस्जिद परिसर में धमाका हुआ है.

अफ़ग़ानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय का कहना है कि काबुल के पश्चिमी इलाके में अल ज़हरा मस्जिद पर जो हमला हुआ है वो चरमपंथी हमला है.

पुलिस ने बीबीसी के हारून नजफ़ीज़ादा को बताया कि इस धमाके में तीन लोगों की मौत हुई, इनमें एक अधिकारी और यूनिट कमांडर शामिल हैं.

धमाके में दस लोग घायल हुए हैं.

काबुल के वीआईपी इलाक़े में धमाका, 90 मारे गए

काबुल में एक जनाज़े के दौरान धमाका

रमज़ान के दौरान इफ़्तार के समय जब धमाका हुआ तब मस्जिद में कई बड़े अधिकारी नमाज़ अदा करने पहुंचे थे.

तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने काबुल के शिया बहुल इलाके में अल ज़हरा मस्जिद पर हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

आईएस से जुड़ी अमाक़ समाचार एजेंसी के मुताबिक़ आईएस ने मस्जिद पर आत्मघाती हमला किया है, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

आंतरिक मंत्रालय के एक प्रवक्ता नजीब दानिश ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी है कि हमलावर मस्जिद के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे लेकिन कामयाब नहीं हो पाए और मस्जिद के रसोईघर में ही धमाका कर दिया है.

बताया जा रहा है कि धमाके के बाद गोलीबारी की आवाज़ें सुनी गईं.

पिछले महीने काबुल में अतिसुरक्षा वाले वीआईपी इलाके में एक टैंकर ट्रक में छिपे एक आत्मघाती हमलावर ने धमाका किया था. इस धमाके में 90 लोगों की मौत हो गई थी और चार सौ लोग घायल हो गए थे.

काबुल में हुए इस धमाके के विरोध में कई प्रदर्शन हुए थे जिस पर पुलिस की गोलीबारी में पांच लोगों की मौत हो गई थी.

आत्मघाती हमलावरों ने इन लोगों के जनाज़ों के दौरान फिर धमाके किए थे, इनमें सात लोग मारे गए थे और सौ लोग घायल हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे