रमज़ान के मौके पर नाइजीरिया को भेजा सऊदी अरब का गिफ़्ट पहुंचा बाज़ार में

  • 17 जून 2017
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सऊदी अरब ने नाइजीरिया में बोको हराम से पीड़ित लोगों के लिए 200 टन खज़ूर उपहार के रूप में भेजा था

नाइजीरिया ने सऊदी अरब से उपहार के रूप में आए 200 टन खज़ूर के स्थानीय बाज़ारों में पहुंचने पर सऊदी अरब से माफ़ी मांगी है.

सऊदी अरब ने रमज़ान के मौके पर चरमपंथी संगठन बोको हराम की हिंसक गतिविधियों के चलते बेघर हुए लोगों के लिए ये खज़ूर भेजे थे.

बोको हराम से लड़ती ये औरत

कालिख की चादर में लिपटा शहर

रमज़ान के दौरान रोज़ा रखने वाले पारंपरिक तौर पर खज़ूर से ही हर शाम अपना इफ़्तार करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption नाइजीरिया के बोर्नो राज्य में बोको हराम से बरामद किए गए हथियार और गोला-बारूद

नाइजीरिया के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस मामले में जांच जारी है लेकिन अब तक किसी को गिरफ़्तार नहीं किया गया है.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि नाइजीरिया के शरणार्थी, प्रवासी एवं बेघर आयोग ने उन स्थानों की सूची बनाई थी जहां खज़ूरों को बांटा जाना था.

इनमें आई डी पी कैंप और प्रमुख मस्ज़िदें शामिल थीं. ये खज़ूर नाइजीरिया के बोर्नो राज्य के बाज़ारों में बिकते पाए गए थे.

बोर्नो राज्य बोको हराम की चरमपंथी गतिविधियों से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है.

नाइजीरिया में राहत कार्यों में लगे अधिकारियों ने कहा है कि आठ सालों से जारी संघर्ष के बाद उत्तर-पूर्वी नाइजीरिया में तकरीबन 85 लाख लोगों को जीवन-रक्षक दवाओं की ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे