क़तर पर से पाबंदी हटाने के लिए सऊदी अरब तैयार मगर...

  • 17 जून 2017
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल जुबैर

सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल ज़ुबैर ने कहा है कि जब तक क़तर अपनी नीतियां नहीं बदलेगा तब तक उनका देश क़तर से किसी तरह के सबंध हीं रखेगा.

जुबैर ने कहा, "वह दुनिया के सबसे अमीर मुल्कों में से एक हैं. उन पर आर्थिक प्रतिबंधों से कुछ असर नहीं पड़ता. हम क़तर में बैठे अपने भाइयों को एक संदेश देना चाहते थे कि अगर वह हमारे साथ सामान्य संबंध चाहते हैं तो उन्हें हमारे साथ सामान्य तरीके से पेश आना होगा. क़तर और क़तर के लोगों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाना चाहता."

आख़िर क्यों गहरा गया क़तर संकट?

अरब देशों की क़तर से संबंध तोड़ने की 4 वजहें

हवाई क्षेत्र पर बैन का कारण - क़तर को सबक सिखाना

ज़ुबैर ने कहा है, "हमने ये पूरी तरह साफ़ किया है. लेकिन हमनें ये भी साफ़ किया है कि जब तक नीतियों में कोई परिवर्तन नहीं होगा तब तक हालात नहीं बदलेंगे. हम उन्हें अपने आसमान में नहीं उड़ने देंगे जो कि हमारा अपना अधिकार है. इससे एक संदेश जाता है. राजनयिक संबंध खत्म करना भी एक स्वतंत्र अधिकार है और इससे भी एक संदेश जाता है. "

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मीडिया की दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं

ज़ुबैर कहते हैं, "क़तारी भाई लगातार चरमपंथ को बढ़ावा नहीं दे सकते और अपनी मीडिया से दूसरे देशों के मामलों में टांग नहीं अड़ा सकते.

क्या क़तर पर सऊदी अरब ने पार की हदें?

लंदन में क़तर के पास महारानी से भी ज़्यादा ज़मीन

इसी बीच अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने खाड़ी देशों के बीच बिगड़े संबंधों के बीच अपनी मैक्सिको यात्रा को रद्द कर दिया है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने हाल ही में कहा था कि यह व्यक्तिगत मुलाकातों की मदद से इस क्षेत्र में जारी तनाव को कम करने की कोशिश करता रहेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे