सीरियाई विमान को गिराने के बाद अमरीकी गठबंधन को रूस की चेतावनी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीरियाई लड़ाकू विमान को मार गिराए जाने के बाद रूस ने सीरिया में तैनात अमरीकी गठबंधन को चेतावनी दी है कि वो इस हमले को अपने विमानों पर हमले के रूप में देखेगा.

अमरीकी गठबंधन ने कहा है कि उसने रविवार को रक्का में अमरीकी समर्थित विद्रोहियों पर बमबारी करने पर सीरियाई सुखोई-22 विमान को मार गिराया.

अमरीका ने सीरिया के सुखोई विमान को मार गिराया

सीरिया का हवाई कवच मज़बूत करेगा रूस

सीरिया के प्रमुख सहयोगी रूस ने कहा कि हवाई दुर्घटनाओं को रोकने के लिए वो अमरीका के साथ हुई सूचनाओं के आदान प्रदान के समझौते को रोक रहा है.

सीरिया ने इसे अमरीका की ओर से किया गया 'निंदनीय हमला' क़रार दिया है और कहा है कि इसके 'ख़तरनाक़ परिणाम' होंगे.

इमेज कॉपीरइट EPA

रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है, "फ़रात नदी के पश्चिम में रूसी एंटी एयरक्राफ़्ट फ़ौजें अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के विमान और ड्रोन समेत हर विमान की निगरानी करेंगी और निशाना बनाएंगी."

युद्ध की आग में क्यों जल रहा है सीरिया?

मंत्रालय ने इस बात से इनकार किया कि अमरीका ने सुखोई-22 लड़ाकू विमान को मार गिराने से पहले सूचना तंत्र का इस्तेमाल किया था.

रक्षा मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि हवाई दुर्घटनाओं को रोकने और हवाई सीमा को सुरक्षित रखने की गारंटी के लिए गठबंधन से जो समझौता हुआ था, वो सोमवार को ख़त्म हो गया.

ये समझौता अप्रैल में रोक दिया गया था जब अमरीका ने सीरिया के शायरात एयरबेस पर 59 टॉमहॉक क्रूज़ मिसाइल दागे थे.

अमरीका ने ये कार्रवाई विद्रोहियों के क़ब्जे वाले इदलिब प्रांत में रासायनिक हथियारों के हमले के संदेह में की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे