मस्जिद से चोरी की, बोला उसके और अल्लाह के बीच की बात

मस्जिद
Image caption चोर ने कहा कि वो मस्जिद मदद माँगने आया था पर मौलाना ने उसे भगा दिया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पाकिस्तान में एक शख़्स ने एक मस्जिद से 50,000 रूपए चोरी किए और एक चिट्ठी छोड़ गया कि ये मामला उसके और अल्लाह के बीच का है और किसी और को इसमें दख़ल नहीं देना चाहिए.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पाकिस्तान के एक अख़बार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि ये घटना दक्षिणी पंजाब के ख़ानेवाल ज़िले में स्थित जामिया मस्जिद सादिक़ुल मदीना में हुई.

बताया गया है कि चोर ने रूपयों से भरे दो बक्से उठाए जिनमें मस्जिद आने वाले लोगों के चंदे रखे थे.

वो साथ ही मस्जिद में रखी यूपीएस की दो बैटरियाँ भी ले गया जिनसे बिजली ना रहने के समय मस्जिद में बिजली की व्यवस्था होती थी.

चोरों के नाम ख़त- 'धन्यवाद, आप हमारे घर आए'

डाकू ने पुलिस से ही माँगे पैसे

चोर की चिट्ठी

उसने मस्जिद से जाते वक़्त एक ख़त छोड़ा जिसमें लिखा था, "ये मेरे और अल्लाह के बीच की बात है. कृपया कोई भी मुझे खोजने की कोशिश ना करे. मैं बहुत ही ज़रूरतमंद इंसान हूँ और इसलिए अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूँ. "

उसने बताया कि वो इसके पहले भी मस्जिद आया था और मौलाना से मदद माँगी थी, मगर उसने मदद नहीं की और उसे बाहर निकाल दिया.

उसने लिखा, "जब लोगों ने मेरी मदद करने से इनकार कर दिया, तो मजबूर होकर मुझे मस्जिद से चोरी करनी पड़ी. मैंने किसी के भी घर से कोई चोरी नहीं की. मैं अल्लाह के घर से कुछ ले जा रहा हूँ."

Image caption पिछले साल एक चोर मस्जिद से पानी के टैप चुरा लिए थे (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लोगों में चोर के लिए सहानुभूति

पाकिस्तानी अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार स्थानीय लोगों ने चोर से सहानुभूति जताई और मस्जिद के मौलाना से उसे माफ़ कर देने का अनुरोध किया.

कुछ स्थानीय लोगों ने कहा कि वे मिलकर यूपीएस बैटरियाँ ख़रीदने के लिए तैयार हो गए हैं.

मगर मस्जिद के मौलवी ने कहा कि चोर को पकड़ा जाना चाहिए और उसे सज़ा मिलनी चाहिए.

मगर उन्होंने इस बात का जवाब देने से इनकार कर दिया कि क्या पिछले दिनों कोई उनसे मदद माँगने आया था.

पाकिस्तान में पिछले साल भी रमज़ान के महीने में ऐसी घटना हुई थी जब एक चोर एक मस्जिद से पानी के टैप चुराकर ले गया और साथ ही एक ख़त छोड़ गया कि वो ग़रीब है और उसके पास जब पैसे आएँगे तो वो लौटा देगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)